पैंगोंग झील के पास चीनी सेना ने फिर की घुसपैठ की कोशिश, भारतीय जवानों ने खदेड़ा

डेस्क। भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर जारी गतिरोध चरम पर पहुंच गया है। इस बीच खबर आ रही है कि 29 और 30 की रात चीनी सैनिकों ने पूर्वी लद्दाख में गतिरोध वाले स्थल पर फिर घुसपैठ की कोशिश की। हालांकि भारतीय जवानों ने उन्हें खदेड़ दिया है। भारत ने इस इलाके में तैनाती और बढ़ा दी है।

भारतीय सेना के पीआरओ कर्नल अमन आनंद ने कहा कि भारतीय सैनिकों ने पैंगॉन्ग त्सो झील के दक्षिणी किनारे पर चीनी सैनिकों की गतिविधि को पहले ही रोक दिया। भारतीय जवानों ने चीनी इरादों को विफल करने की कार्रवाई की है। इस झड़प के बावजूद दोनों देशों के बीच चुशूल में ब्रिगेड कमांडर लेवल की फ्लैग मीटिंग चल रही है।

चीन की पूर्वी लद्दाख में घुसपैठ पर कांग्रेस ने एक बार फिर से मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस नेता सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा ‘आए दिन भारत की संप्रुभता पर हमला हो रहा है, आए दिन हमारी सरज़मीं पर क़ब्ज़े का दुस्साहस, आए दिन देश की धरती पर चीनी घुसपैठ, मोदी जी, पर “लाल आँख” कहाँ हैं, चीन से आँखों में आँखें डाल कब बात होगी, पी.एम मौन क्यों हैं?’

उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले लद्दाख की स्थिति को गंभीर बताते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बड़ा बयान देते हुए कहा था , उन्होंने कहा था कि लद्दाख की स्थिति 1962 के संघर्ष के बाद ‘सबसे गंभीर’ है। दोनों पक्षों की ओर से वास्तविक नियंत्रण रेखा पर अभी तैनात सुरक्षा बलों की संख्या भी अभूतपूर्व है। इसी तरह सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने भी कहा था कि यदि चीन से वार्ता विफल होती है तो सैन्य विकल्प मौजूद हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper