आजमगढ़ में सीएम योगी ने 37 परियोजनाओं का किया शिलान्‍यास, अखिलेश पर निशाना

आजमगढ़। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार 06 दिसंबर को आजमगढ़ के सगड़ी तहसील क्षेत्र में विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस दौरान सीएम ने विपक्ष पर हमला भी बोला। सीएम योगी ने कहा कि कुछ लोगों ने बाबा साहेब के नाम पर राजनीति तो की, लेकिन जब भी गरीबों और दलितों पर अत्याचार होता था। तब वह लोग मौन साध लेते थे। याद करिए, जब सपा सरकार के समय आजम खान मंत्री थे, उस समय रामपुर में दलितों को उजाड़ा जा रहा था। तब सपा अत्याचार करा रही थी, बसपा और कांग्रेस मौन थे। अगर उस वक्त किसी ने आंदोलन किया, तो वह भाजपा थी।

आजमगढ़

पूर्ववर्ती समाजवादी पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार के कार्यकाल को लेकर सीएम योगी ने कहा कि सपा सरकार के वक्त अराजकता ही उसका पर्याय बन गया था। देश के अंदर एक नारा चला था। जिस गाड़ी में सपा का झंडा, समझो उसको अंदर बैठा जाना पहचाना गुंडा। ये नारा चल पड़ा था। गुंडागर्दी की कमर तोड़ने का काम हमारी सरकार ने किया है। सपा सरकार के लोग सत्ता में आने के बाद जिस तरीके की तबाही मचाए थे। दलितों की जमीन पर कब्जा करते थे। व्यापारियों के प्रतिष्ठानों पर कब्जा करते थे। जिस तरीके की अराजकता इन्होंने पैदा की थी। ये किसी से छुपा हुआ नहीं है। आजमगढ़ इसका सबसे बड़ा भुक्तभोगी था।

सीएम ने कहा कि आजमगढ़ के नौजवान जब बाहर जाते थे तो कोई धर्मशाला, होटल में कमरा नहीं देता था। ये काम उन लोगों ने किया, जिन्होंने कोरोना काल मे आजमगढ़ को लावारिस छोड़ दिया। कोरोना काल में मोदी जी देश के लोगों का हालचाल ले रहे थे। मैं प्रदेश में लोगों के हालचाल ले रहा था। आजमगढ़ में तीन बार मैं कोरोना काल के वक्त आया था। हॉस्पिटल, मेडिकल कॉलेज में जाकर हालचाल लिया। भाजपा का एक-एक कार्यकर्ता सेवाभाव से लगा रहा।

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में आजमगढ़ के सांसद नदारद थे। वे गायब थे, उनका कहीं पता ही नहीं था। एक बार मैंने पूछा भी- सभी सांसदों का हालचाल लिया जा रहा है, वो कहां है, तो पता लगा कि इंग्लैंड गए है। दूसरी बार मालूम किया, तब पता लगा कि ऑस्ट्रेलिया गए हैं। आजमगढ़ के लोगों ने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जाने के लिए तो नहीं चुना था।

Related Articles

Back to top button
E-Paper