महाराष्ट्र के मंत्री धनंजय मुंडे की बढ़ीं मुसीबतें, चुनाव आयोग में दर्ज कराई गई शिकायत

मुंबई महाराष्ट्र के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे पर दुष्कर्म का मामला दर्ज होने के बाद उनकी मुसीबतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. किरीट सोमैया ने बुधवार को मुंडे के विरुद्ध चुनाव आयोग में शिकायत करके 2019 में विधानसभा का चुनाव लड़ते समय बच्चों व पत्नी की जानकारी छिपाने का आरोप लगाया है। सोमैया ने चुनाव आयोग से धनंजय मुंडे की विधानसभा सदस्यता रद्द करने की मांग की है।

धनंजय मुंडे

किरीट सोमैया ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि सामाजिक न्यायमंत्री के विरुद्ध रेणू शर्मा नामक महिला ने दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया है। इसके बाद खुद धनंजय मुंडे ने कहा है कि उन्होंने शिकायतकर्ता रेणू शर्मा की बहन से शादी की थी और उनसे दो बच्चियां पैदा हुई हैं। उन्होंने इन दोनों बच्चियों को अपना नाम देकर स्कूल में प्रवेश दिलाया है।

प्लेन के जरिए मुंबई से कानपुर पहुंची वैक्सीन, 64 हजार लोगों को लगेगा टीका

सोमैया ने कहा कि धनंजय ने 2019 में बीड़ जिले के परली विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ते समय चुनाव आयोग को सिर्फ अपनी पहली पत्नी व उससे पैदा हुई तीन लड़कियों की जानकारी दी है। उन्होंने अपनी दूसरी पत्नी से पैदा दो लड़कियों की जानकारी चुनाव आयोग से छिपाई है। इसी तरह धनंजय मुंडे ने अपनी दूसरी पत्नी का आर्थिक ब्योरा भी चुनाव आयोग से छिपाया है। सोमैया ने चुनाव आयोग से धनंजय मुंडे पर कानूनन उचित कार्रवाई की मांग की है।

विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि पुलिस को धनंजय पर दर्ज मामले की गहन छानबीन कर सच्चाई जनता के सामने लाना चाहिए। इस मामले में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को खुद आगे बढक़र कार्रवाई करनी चाहिए। जब तक धनंजय की छानबीन हो रही है, तब तक मुख्यमंत्री को धनंजय को मंत्री समूह से बाहर कर देना चाहिए। इस मामले में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने धनंजय मुंडे से तत्काल इस्तीफा देने की मांग की है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper