राहुल गांधी के बचाव में उतरी कांग्रेस, कहा भाजपा सतही मुद्दे उठाती है

राहुल गांधी

राहुल गांधी के उत्तर-दक्षिण को लेकर दिए बयान पर मचे बवाल के बीच कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी पर पलटवार किया है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बुधवार को कहा कि आम लोगों से जुड़े मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए भाजपा हर दिन ‘सतही’ मुद्दों को उठा रही है।

सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी के भाषण को लेकर मचा राजनीतिक घमासान भी भाजपा के इसी प्रोपगेंडे की उपज है। भाजपा नेताओं की ओर से राहुल गांधी पर किए जा रहे हमले को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने पत्रकार वार्ता कर कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने लोगों से सार्थक आह्वान किया था। जबकि भाजपा उस बयान को उत्तर-दक्षिण के विभाजन का मुद्दा बनाने में लगी है।

नरेंद्र मोदी स्‍टेडियम में इस खिलाड़ी से दोहरा शतक चाहते हैं अमित शाह, जताई इच्‍छा

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने आमजन की जरूरतों से जुड़े मुद्दों पर केंद्र अथवा राज्य सरकार से सवाल करने की बात कही थी। ऐसे में उन्होंने कहा कि दक्षिण के लोग मुद्दों पर विशेष ध्यान देते हैं, लेकिन सत्ताधारी भाजपा हर बात में राजनीति ढूंढ़ लेती है और अपने हिसाब से लोगों को बरगलाती है। आगे उन्होंने कहा कि अब हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि सरकारें मुद्दों पर बात करे न कि लोगों का ध्यान बांटने वाली सतही बातों पर।

सुरजेवाला ने कहा कि देश के सामने वास्तविक मुद्दा जीडीपी का गिरना और सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग का बर्बाद होना है, लेकिन सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही। देश में मुद्दा यह भी है कि संविधान खतरे में है और लोग केंद्र एवं भाजपा शासित कई राज्यों में निशाने पर हैं। इसके अलावा, लोग विरोध या असहमति जताने और अभिव्यक्ति का ‘अपना अधिकार खो’ चुके हैं। इन मुद्दों पर सरकारें न तो चर्चा करती हैं और न ही अलग मत रखने वालों को सुनती ही है।

इस दौरान कांग्रेस प्रवक्ता ने भाजपा पर जनादेश खरीदने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि चुनी हुई सरकारों को गिराने को लेकर लगातार षड्यंत्र रचा जाता है। वे हर दिन लोगों के जनादेश को दबाते हैं, उन्हें कुचलते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि आज संविधान, नागरिक स्वतंत्रता और लोकतंत्र के सभी संस्थान ‘खतरे’ में हैं, लेकिन सत्ता के मद में चूर मोदी सरकार की नजर में यह महत्वपूर्ण मुद्दा नहीं है।

उल्लेखनीय है कि बीते दिनों त्रिवेंद्रम (केरल) में आयोजित एक कार्यक्रम में राहुल गांधी ने कहा था कि वो 15 साल तक उत्तर भारत में सांसद रहे और वहां उन्हें एक अलग तरह की राजनीति की आदत हो गई थी। ऐसे में केरल आना उनके लिए नया है। यहां आने पर पता चला कि दक्षिण के लोग मुद्दों में दिलचस्पी रखते हैं और जमीनी स्तर पर मुद्दों की गहराई में जाने वाले हैं। राहुल के इसी बयान को लेकर भाजपा उन पर हमलावर है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper