कृषि कानूनों के विरोध में कांग्रेस 15 जनवरी को मनाएगी ‘किसान अधिकार दिवस’

किसान अधिकार दिवस

कांग्रेस ने कहा कि वह तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग पर बल देने के लिए आगामी 15 जनवरी को सभी राज्यों में ‘किसान अधिकार दिवस’ मनाएगी और उसके नेता एवं कार्यकर्ता राज भवनों तक मार्च करेंगे। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बताया कि कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के नेतृत्व में सभी महासचिवों एवं प्रभारियों की बैठक हुई जिसमें यह फैसला किया गया कि पार्टी देश के किसानों के साथ कांग्रेस मजबूती से खड़ी रहेगी।

चुनाव के पहले रायबरेली में कांग्रेस को बड़ा झटका, 35 नेताओं ने दिया इस्तीफा

कांग्रेस ने कहा है कि मोदी सरकार किसानों के साथ बेरहमी से पेश आकर उनके अधिकारों को कुचल रही है इसलिए पार्टी 15 जनवरी को ‘किसान अधिकार दिवस’ के रूप में मनाएगी और राज्य मुख्यालयों में राजवनों का घेराव करेगी।

कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शनिवार को यहां पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पार्टी कार्यकर्ता 15 जनवरी को ‘किसान अधिकार दिवस’ पर किसानों की मांग पूरी करने के लिए सरकार पर दबाव डालेंगे और इसके लिए प्रदेश तथा जिला स्तर पर धरना प्रदर्शन के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ता किसान अधिकार दिवस के दौरान रैली और धरने आयोजित करने के बाद सभी प्रदेश मुख्यालयों में राजभवन के लिए मार्च करेंगे और पूरे देश में राजभवनों का घेराव किया जाएगा।

प्रवक्ता ने कहा कि देश के इतिहास में किसानों के प्रति कभी कोई सरकार इतनी निर्मम तरीके से पेश नहीं आई है। सरकार बैठक दर बैठक आयोजित करके किसानों को थकाना चाहती है लेकिन किसान थकने को तैयार नही है। वह न झुकने वाले और ना ही रुकने वाले है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper