यूपी को जलाने की साजिश : पीएफआई के मास्टर माइंड समेत चार सदस्य धरे गए

मथुरा। मथुरा से बड़ी खबर आ रही है। जिले की मांट पुलिस ने यमुना एक्सप्रेस-वे के मांट टोल पर पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) एवं उसके सह संगठन कैम्पस फ्रंट ऑफ इंडिया (सीएफआई) के मास्टर माइंड समेत चार सदस्यों को गुरफ्तार किया है। ये सभी कार से दिल्ली से हाथरस जा रहे थे।

यूपी के एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने मंगलवार को बताया कि ऐसी सूचना प्राप्त हुई थी कि कुछ संदिग्ध व्यक्ति दिल्ली से हाथरस की तरफ जा रहे हैं। इस सुचना का संज्ञान लेते हुए मांट थाना पुलिस एवं एसओजी टीम अन्य टीम यमुना एक्सप्रेस-वे के मांट टोल प्लाजा पर चैकिंग शुरू किया। देर रात करीब साढ़े 11 बजे दिल्ली की ओर से आती स्विफ्ट डिजायर कार (डीएल 01 जेडसी 1203) को रोका गया। कार में सवार अतीकुर्रहमान और उसके साथी सिद्दीकी पुत्र मोहम्मद चैरूर निवासी बेंगारा थाना मल्लपुरम केरल, मसूद अहमद निवासी कस्बा व थाना जरवल जिला बहराइच तथा आलम पुत्र लईक पहलवान निवासी घेर फतेह खान थाना कोतवाली जिला रामपुर को हिरासत में ले लिया।

पुलिस के मुताबिक़ ये चारों ही पीएफआई एवं सीएफआई के मास्टर मांइड शातिर सदस्य है। चारों के कब्जे से मोबाइल, लैपटॉप एवं शांति व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाला संदिग्ध साहित्य प्राप्त हुआ। ये लोग हाथरस के बहाने यूपी को जलाने की साज़िश में शामिल है। आपत्तिजनक वेबसाइट से जुड़े होने के भी सुराग़ मिले हैं, तमाम भड़काऊ और आपत्तिजनक कंटेंट भी बरामद किए हैं। इनके खिलाफ निरोधात्मक कार्यवाही की गई है, संयुक्त पूछताछ के उपरांत अग्रिम विधिक कार्यवाही की जाएगी।

मथुरा पुलिस के मुताबिक़ केरल का पीएफआई एजेंट मास्टमाइंड अतीकुर्रहमान पत्रकार बनकर हाथरस की आग पुरे देश में भड़काने की साजिश कर रहा था। फंड रेजिंग की कमान भी इसी के पास थी। अतिकुर्रहमान उर्फ अतीक पुत्र रौनक अली वर्तमान में कैम्पस फ्रण्ट आफ इण्डिया की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में कोषाध्यक्ष है और 3-4 से दिनों से दिल्ली के शाहीन बाग में रह रहा था।

 

 

Related Articles

Back to top button
E-Paper