अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण इसका प्रमाण, नीयत साफ हो तो नियंता भी बनते हैं मददगार : मुख्यमंत्री

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि निष्ठा के साथ नीयत साफ हो तो नियंता भी नीति को सफल बनाने में योगदान देते हैं। अयोध्या में जन्मभूमि पर भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का हो रहा निर्माण इसका प्रमाण है। नेतृत्व के प्रति अगाध निष्ठा, साफ नीति-नीयत और संस्थापकों के आदर्शों-मूल्यों का सम्मान करते हुए ही भाजपा आज दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बनी है।

मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री शनिवार को गोरखपुर के योगिराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह में आयोजित भाजपा गोरखपुर क्षेत्र के मंडल अध्यक्षों व मंडल प्रभारियों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बैठक में मौजूद लोगों में खूब जोश भरा। साथ ही विधानसभा चुनाव में जीत के लिए टिप्स भी दिए। उन्होंने आजमगढ़ में 13 नवम्बर को विश्वविद्यालय के शिलान्यास की घोषणा भी की। बैठक में चुनावी मंत्र देते है सीएम योगी ने कहा कि सरकार की लोक कल्याणकारी योजनाओं को लेकर जनता के बीच मुखर होना होगा।

रामभक्तों पर गोली चलवाने वालों के आपराधिक कृत्य उजागर

सीएम योगी ने बैठक के दौरान 30 अक्टूबर 1990 में कारसेवकों पर चलीं गोलियों का जिक्र भी किया। कहा कि 31 वर्ष पूर्व आज ही के दिन श्रीराम मंदिर आंदोलन के दौरान निर्मम और बर्बर गोलीकांड हुआ था। इस घटना की प्रत्येक नागरिक ने निंदा की थी लेकिन सेक्युलरिज्म के नाम पर सामाजिक ताने बाने को छिन्न भिन्न करने वाले मौन थे या तुष्टिकरण की नीति पर चलकर इस घटना को जायज ठहराने का कुत्सित प्रयास कर रहे थे।

दीपोत्सव अयोध्या के सम्मान के साथ शहीद रामभक्तों को श्रद्धांजलि भी

उन्होंने कहा कि 9 नवम्बर 2019 को सर्वोच्च न्यायालय ने मंदिर निर्माण के पक्ष में फैसला सुनाया तो 30 अक्टूबर 1990 को रामभक्तों व कारसेवकों पर गोलियां चलवाने वालों का आपराधिक कृत्य भी उजागर हो गया। 2017 से अयोध्या में शुरू किया गया दीपोत्सव अयोध्या धाम की महिमा के सम्मान के साथ ही मंदिर आंदोलन के अमर रामभक्तों को श्रद्धांजलि भी है।

नजरिया बदला तो असंभव भी संभव होने लगाश्रीराम मंदिर आंदोलन से जुड़ी अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में देश की जनता ने प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी पर विश्वास किया। 2019 में यह विश्वास फिर दोहराया गया। दुनिया का भारत के प्रति नजरिया बदला। अब तो असंभव कहे जाने वाले कार्य भी हो रहे हैं। उन्होंने कार्यकर्ताओं को आगाह हुए कहा कि बदले चेहरों के साथ आज भी वे लोग मौजूद हैं जो 1990 में रामभक्तों पर गोली चलवा रहे थे। इन्हें जब भी अवसर मिलेगा, वैसा ही कार्य करेंगे।

राष्ट्र के लिए समर्पण भावना से ही कोई मोदी पैदा होता है

मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने लिए जीना कोई जीना नहीं होता। हमारा एक ही धर्म होना चाहिए, राष्ट्रधर्म। इसके प्रति पूर्ण समर्पण होना चाहिए। राष्ट्र और जनता के प्रति सम्पूर्ण समर्पण भावना से ही कोई मोदी पैदा होता है और तब जाकर दशकों की समस्याओं, कश्मीर से धारा 370 व श्रीराम मंदिर आंदोलन का समाधान होता है। उन्होंने कहा कि आज आस्था का सम्मान भी हो रहा है, लोक कल्याण की योजनाएं भी चल रही हैं और विकास परियोजनाएं भी द्रुत गति से आगे बढ़ रही हैं।

अभावग्रस्त लोगों के साथ साझा करें दिवाली की खुशियां

सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी के ढाई करोड़ सदस्य हैं। संकल्प लें कि दिवाली मैं उस परिवार को खोज कर खुशियां साझा करेंगे जो अभावग्रस्त हैं। उनके घर मिठाई, बच्चों के लिए फुलझड़ी लेकर जाएं और कमलदीप जलाएं। प्रदेश में पीएम और सीएम आवास योजना के अंतर्गत 43 लाख परिवारों को आवास दिए गए हैं। कार्यकर्ता वहां जाएं, दीपक जलाएं, मिठाई खिलाएं और तोरणद्वार लगवाएं। हर बूथ, शक्ति केंद्र या मंडल से कोई न कोई पदाधिकारी उस परिवार को जरूर खोजे जिसके पास कुछ नहीं है। अभावग्रस्त लोगों के साथ दिवाली की खुशियां साझा करें। पर्व का आनंद एकाकी में नहीं बल्कि सामुहिकता में है। प्रदेश के 16 लाख अधिकारियों और कर्मचारियों से भी मैं यही अपील करने वाला हूं।

ग्राम पंचायत से लेकर निगमों तक 5.5 लाख कार्यकर्ता समाहित

मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत साढ़े चार वर्षों में ग्राम पंचायतों से लेकर बोर्ड-निगमों तक 5.50 लाख भाजपा कार्यकर्ता समाए हुए हुए हैं जबकि इनकी कुल संख्या में कभी हजार का आंकड़ा भी पार नहीं होता था। 2009 में यूपी से भाजपा के सिर्फ दस सांसद थे जबकि 2014 में 73 हो गए। 2019 में महागठबंधन होने के बाद भी यह संख्या 65 रही। 2017 के पूर्व प्रदेश में बीजेपी के सिर्फ 47 विधायक थे, आज यह संख्या 304 है। 10 एमएलसी की संख्या 37 पर पहुंच गई। उन्होंने ग्राम प्रधान, बीडीसी, ब्लॉक प्रमुख, जिला पंचायत अध्यक्ष, मेयर आदि पर भाजपा के बढ़े प्रतिनिधित्व का भी विस्तार से उल्लेख किया। बताया कि 19000 कार्यकर्ता बोर्डों-निगमों में समाहित हुए हैं।

पहले के सीएम बनाते थे अपना आवास, हमने 43 लाख गरीबों के बनाए

सीएम योगी ने कहा कि पहले के मुख्यमंत्री लखनऊ में अपना आवास बनवाते थे। बीजेपी की सरकार ने 43 लाख गरीबों के आवास बनवाए। पहले चार चुनिंदा जिलों में ही बिजली मिलती थी आज हर जिले को बिना भेदभाव बिजली मिल रही है। कार्यकर्ता जनता के बीच जाएं और इन बातों की याद दिलाएं।

अपहरण और सामूहिक बलात्कार मामले में पूर्व विधायक योगेंद्र सागर को आजीवन कारावास

संघर्ष से शुरू होता सम्मान का रास्ता

सीएम योगी ने कहा कि सम्मान का रास्ता संघर्ष से शुरू होता है। संघर्ष से ही पुरुषार्थ का परिचय दिया जाता है। साढ़े सात साल से पीएम मोदी ने कभी अपने लिए अवकाश नहीं लिया। उत्तर प्रदेश में भी साढ़े चार वर्षों से सरकार ने बिना थके, बिना रुके, बिना झुके, बिना डिगे काम किया है। परिणाम पूरी दुनिया के सामने है। जिस यूपी को बाहर के लोग हेय दृष्टि से देखते थे, आज सम्मान देते हैं। यूपी को पहचान बीजेपी ने दिलाई है और इसका कार्यकर्ता होने के नाते आपको इस पर गर्व होना चाहिए कि यह आपके परिश्रम की सरकार है।

अमित शाह 13 नवम्बर को करेंगे आजमगढ़ में विश्वविद्यालय का शिलान्यास

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि 13 नवम्बर को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आजमगढ़ में विश्वविद्यालय का शिलान्यास करेंगे। उन्होंने कार्यकर्ताओं से इस दिन 12:30 से 3 बजे के बीच बड़ी रैली के लिए तैयार रहने का आह्वान किया। कहा कि एक पूर्व मुख्यमंत्री व उनसे पहले भी एक पूर्व।मुख्यमंत्री ने आजमगढ़ का प्रतिनधित्व किया लेकिन आजमगढ़ को पहचान नहीं दिला पाए। आजमगढ़ को विश्वविद्यालय, एयरपोर्ट और एक्सप्रेस वे का उपहार बीजेपी सरकार दे रही है।

भदोही का उदाहरण दे प्रेरित किया कार्यकर्ताओं को

अपने संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री ने भदोही का उदाहरण देकर कार्यकर्ताओं को प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि भदोही जिले में आबादी 15 लाख है और सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों की संख्या 10.50 लाख। मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि कार्यकर्ता लाभार्थियों से संवाद स्थापित करने लगें तो इसका बहुत ही सकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेगा। जिन बैठकों में जाएं डायरी कलम लेकर वहां बताई बातों को नोट करते रहें। सम्मेलनों में जाएं तो आपके हाव-भाव में उत्साह दिखना चाहिए।

डेढ़ साल तक किसी विपक्षी दल का नहीं था पता

सीएम योगी ने कहा कि सेवा ही संगठन बीजेपी का मूल मंत्र है। कोरोना संकट के दौरान डेढ़ साल तक विपक्षी दल के किसी भी नेता का पता नहीं थ। तब केंद्र सरकार, राज्य सरकार, बीजेपी और आरएसएस का तंत्र ही जनता की सेवा के लिए मौजूद रहा। कोई पांचवा नहीं दिखता था। तथ्य और सत्य को बोलने में संकोच करने की जरूरत नहीं है। सपा, कांग्रेस या बसपा के शासन में कोरोना संकट आने पर ऐसे इंतजाम नहीं हो सकते थे।

गोरखपुर की दो घटनाओं से याद किया पूर्व के कानून व्यवस्था को

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गोरखपुर की दो घटनाओं के जरिए पूर्व की सरकार में कानून व्यवस्था की बदतर स्थिति को भी याद किया। उन्होंने कहा कि सपा सरकार के दौरान जेल रोड पर एक प्रतिष्ठित व्यापारी के मकान पर कब्जा किया जा रहा था। इसी तरह आर्य नगर में बाबू पुरुषोत्तम दास की जमीन पर माफिया दिनदहाड़े कब्जा करने पहुंच गया था। तब मैं सांसद था और मुझे मौके पर स्वयं जाना पड़ा था। आज ऐसा दुस्साहस कोई भी नहीं कर सकता। उन्होंने 2008 में आजमगढ़ में विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता की हत्या के बाद सांसद के रूप में अपने दौरे व मऊ, डुमरियागंज की उस समय की स्थिति का भी उल्लेख कर पूर्व की सरकारों को घेरा।

64 लाख विद्यार्थियों को मिल रही स्कॉलरशिप

सीएम योगी ने कहा कि सपा, बसपा के शासन में स्कॉलरशिप रोकने की होड़ लगी रहती थी। सपा शासन में अनुसूचित जाति और बसपा शासन में पिछड़ी जाति के छात्रों की स्कॉलरशिप रोक दी जाती थी। हमारी सरकार ने स्कॉलरशिप के लाभार्थी विद्यार्थियों की संख्या 16 लाख से बढ़ाकर 64 लाख कर दी है।

प्रश्नों के प्रदेश का उत्तर प्रदेश नाम सार्थक किया योगी सरकार ने : राधामोहन सिंह

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व यूपी प्रभारी राधामोहन सिंह ने कहा कि 2017 के पहले भी इस राज्य का नाम उत्तर प्रदेश जरूर था लेकिन यह प्रश्नों का प्रदेश बना हुआ था। भ्रष्टाचार, माफिया-गुंडाराज यहां के बड़े प्रश्न थे। इस प्रश्नों का उत्तर तब मिला जब प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में भाजपा की सरकार बनी। योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश का नाम सार्थक किया है। 2017 के पूर्व जिस उत्तर प्रदेश में दंगाइयों को प्रश्रय मिलता था तो अब उनके पोस्टर सार्वजनिक स्थानों पर लगाए जाते हैं, उनसे हुए नुकसान की वसूली होती है। दंगाइयों से जुड़े प्रश्न का उत्तर मिल गया है। रामभक्तों पर चली गोलियों का उत्तर भी अयोध्या में प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण की शुरुआत के साथ मिल गया है।

सियासत ही नहीं अब विकास का रास्ता भी यूपी से ही जाता है : राष्ट्रीय उपाध्यक्ष

प्रदेश में विकास से आए धारणात्मक बदलाव की भी चर्चा करते बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राधामोहन सिंह ने की। उन्होंने कहा कि पहले कहा जाता था कि देश की सियासत का रास्ता यूपी से होकर जाता है। योगी जी की सरकार ने अब यह साबित किया है कि सिर्फ सियासत ही नहीं, देश के विकास का रास्ता भी यूपी से ही होकर जाता है। कभी देश की छठवें नम्बर की अर्थव्यवस्था वाला उत्तर प्रदेश आज दूसरे नम्बर की अर्थव्यवस्था है। कोरोना संकट के दौरान भी उत्तर प्रदेश देश दुनिया के निवेशकों की पहली पसंद बना रहा। श्री सिंह ने कहा कि योगी और बीजेपी यूपी की आवश्यकता हैं और पूरे देश के लोगों की शुभेच्छा है कि योगी जी दोबारा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनें। उन्होंने कहा कि पूर्व की सपा सरकार जहां केंद्र सरकार द्वारा दिए जा रहे 20 कृषि विज्ञान केंद्रों को लेने को तैयार नहीं हुई वहीं योगी जी ने सांसद रहते हुए कृषि विज्ञान केंद्र के लिए 50 एकड़ जमीन दे दी। यही नहीं, जब वह मुख्यमंत्री बने तो पहली ही कैबिनेट में प्रदेश में 20 कृषि विज्ञान केंद्रों को स्वीकृति दी।

योगी सरकार में पाट दिए गए गुंडे व गड्ढे : अरविंद मेनन

भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री एवं क्षेत्र संगठन प्रभारी अरविंद मेनन ने कहा कि योगी सरकार में गुंडों और गड्ढों को पाट दिया गया है। उन्होंने चुनाव के लिए बूथ जीता, चुनाव जीता का फॉर्मूला बारीकी से समझाया। साथ ही यह कहते हुए कार्यकर्ताओं में उत्साह भरा कि कांग्रेस फसली, बसपा नकली, सपा कत्ली और भाजपा असली पार्टी है।

सामाजिक चिंतन करने वाली भाजपा एकमात्र पार्टी : विवेक ठाकुर

राज्यसभा सदस्य एवं पार्टी के प्रदेश सह चुनाव प्रभारी विवेक ठाकुर ने कहा कि “चुनाव आ रहा है” की सोच की “बजाय चुनाव आ गया है” की भावना के साथ सभी लोगों को पार्टी हित में और तीव्रता से जुट जाना है। उन्होंने कहा कि भाजपा ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो राजनैतिक चिंतन के साथ सामाजिक चिंतन भी करती है और कोरोना संकट में पार्टी कार्यकर्ताओं ने इसे एक बार फिर साबित किया है। काम किया है और काम के आधार पर ही हम गर्व और आत्मविश्वास के साथ चुनाव में जा रहे हैं।

खिलाना है राष्ट्रवाद का कमल : स्वतंत्रदेव

बैठक में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि मंडल अध्यक्ष व मंडल प्रभारी पार्टी के दिल का टुकड़ा हैं। मंडल की टीम राष्ट्रवाद के प्रश्न समर्पित हो इसीलिए मंडल स्तर पर प्रभारी की व्यवस्था बनाई गई है उन्होंने पदाधिकारियों के क्षेत्र में प्रवास पर जोर देते हुए कहा कि हम सबको मिलकर राष्ट्रवाद का कमल खिलाना है स्वागत संबोधन भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह ने किया। इस अवसर पर भाजपा के प्रदेश महामंत्री एवं गोरखपुर क्षेत्र के प्रभारी अनूप गुप्ता, प्रदेश उपाध्यक्ष नीलम सोनकर, प्रदेश मंत्री शकुंतला चौहान, गोरखपुर के प्रभारी अजय सिंह गौतम, गोरखपुर के जिलाध्यक्ष युधिष्ठिर सिंह, महानगर अध्यक्ष राजेश गुप्ता, क्षेत्रीय महामंत्री प्रदीप शुक्ला, सहजानन्द राय, सुनील गुप्ता, विश्वजितांशु सिंह आशु, पुष्पदंत जैन समेत गोरखपुर क्षेत्र के जिलों के अध्यक्ष व अन्य पदाधिकारी, 286 मंडलों के अध्यक्ष, प्रभारी, 62 विधानसभा क्षेत्रों के प्रभारी आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper