ख़तरा: जनवरी में कोरोना की तीसरी लहर आना तय, फरवरी में पीक पर होगा

नई दिल्ली. कोरोना का नया वैरियंट ओमीक्रॉन बेहद संक्रामक है. यह डेल्टा वेरियंट के मुकाबले तेज़ी से फ़ैल रहा है. डेढ़ से दो दिन में ओमीक्रॉन के मामले दोगुने  हो रहे हैं. इसे लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है. अब इस बात के पर्याप्त सबूत नहीं है कि कोविड वैक्सीन ओमीक्रॉन के खिलाफ कितनी असरदार है. नेशनल कोविड-19 सुपरमॉडल कमिटी के प्रमुख व आईआईटी हैदराबाद के प्रोफ़ेसर विद्यासागर ने तीसरी लहर की भविष्यवाणी की है. जिसके अनुसार जनवरी में कोरोना की तीसरी लहर आना तय है और यह फरवरी में पीक पर होगा.

देश में कोरोना संक्रमण के फिलहाल हर दिन 8 हजार से कम मामले आ रहे हैं। दे में पिछले 24 घंटे में 7 हजार 81 नए केस सामने आए हैं, जबकि 264 मरीजों की मौत हुई है। बीते 24 घंटों में 7 हजार 469 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। फिलहाल देश में कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या करीब 84 हजार है जो कि पिछले 19 महीनों में सबसे कम है। नेशनल कोविड-19 सुपरमॉडल कमिटी के प्रमुख व आईआईटी हैदराबाद के प्रोफ़ेसर विद्यासागर ने तीसरी लहर की भविष्यवाणी की है. जिसके अनुसार जनवरी में कोरोना की लहर आना तय है और यह फरवरी में पीक पर होगा.

  ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली सरकार द्वारा कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज में कोविड मरीजों के लिए 65 बेड तैयार किए गए हैं। डॉ. रजत जैन ने कहा, “अभी 65 बेड तैयार किए गए हैं। 2 दिन के अंतर्गत ऑक्सीजन वाले 500 बेड तैयार कर लिए जाएंगे। यहां 3 ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए हैं।”

Related Articles

Back to top button
E-Paper