योगी सरकार का बड़ा फैसला, लॉकडाउन उल्लंघन के केस होंगे वापस

योगी सरकार

योगी सरकार यूपी के लाखों लोगों को बड़ी राहत देने जा रही है। सीएम योगी ने प्रदेश में लॉकडाउन तोड़ने पर दर्ज हुए मुकदमों को वापस लेने के निर्देश दिए हैं। जिससे तकरीबन ढाई लाख लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। बता दें कि लॉकडाउन के नियम तोड़ने के मामलों में अब लाखों लोगों को जल्‍द ही छुटकारा मिल जाएगा।

राजस्थान : ट्रक और क्रूजर जीप की भिड़ंत में 6 की मौत, मुख्यमंत्री ने जताई संवेदना

रिपोर्ट्स के मुताबिक, योगी सरकार प्रदेश भर के थानों में लॉकडाउन की धारा 188 के उल्‍लंघन को लेकर दर्ज हुए मुकदमें वापस लेने की तैयारी कर रही है। अभी हाल ही में सरकार ने प्रदेश भर के व्‍यापारियों के खिलाफ लॉकडाउन के दौरान दर्ज हुए मुकदमें वापस लिए जाने के निर्देश जारी किए थे।

कुछ इसी कड़ी में कानून मंत्री बृजेश पाठक ने व्‍यापारियों पर दर्ज मुकदमों का ब्‍योरा जुटाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। राज्य सरकार का मानना है कि कोविड के मुकदमों से आम लोगों को अनावश्‍यक परेशानी उठानी पड़ेगी। थानों में दर्ज मुकदमें वापस होने के बाद लोगों को परेशानी से भी मुक्ति मिल जाएगी।

सरकार का मानना है कि इस फैसले से न्यायालय पर से मुकदमों का बोझ कम होगा। यूपी सरकार के मुकदमे वापस लेने का ऐलान करने के साथ ही यूपी ऐसा करने वाला पहला राज्य बन गया है। सरकार के कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने और लॉकडाउन के उल्लंघन से जुड़े मुकदमे वापस लेने के फैसले से आम जनता और व्यापारियों को राहत मिलेगी।

ऐसा करने वाला यूपी देश का पहला राज्य

कोविड-19 प्रोटोकॉल और लॉकडाउन उल्‍लंघन के मुकदमे वापस लेने की घोषणा करने वाला उत्‍तर प्रदेश देश का पहला राज्‍य है। अब आम जनता पर दर्ज मुकदमे वापस लेने के फैसले के बाद भी यूपी पहले पायदान पर पहुंच गया है। सरकार मुकदमे वापस लेने के साथ ही व्यापारियों को भविष्‍य में ऐसी स्थितियों में विशेष एहतियात बरतने की चेतावनी भी दे चुकी है। इन मुकदमों की वापसी से पुलिस और न्‍यायालय से भी बोझ कम होगा और उन्‍हें आवश्‍यक चीजों की जांच के लिए मौका मिल सकेगा।

Related Articles

Back to top button
E-Paper