अमेरिकी सीनेट में डेमोक्रेट ने बाजी मारी, बाइडेन को सत्ता सौंपने के लिए राजी हुए ट्रम्प

अमेरिका में हिंसा के बीच कांग्रेस ने जो बाइडेन की जीत पर मुहर लगा दी है। कांग्रेस की मंजूरी के बाद जो बाइडेन आधिकारिक तौर पर अमेरिका के राष्ट्रपति होंगे। वाशिंगटन डेमोक्रेटिक पार्टी ने बुधवार की रात जार्जिया में सीनेट की दो सीटों के लिए हुए पुनः मतदान में कांटे की टक्कर में दोनों सीटें जीत कर सौ सदस्यीय सदन में 50-50 की बराबरी के साथ बाज़ी मार ली है। इस बीच डोनाल्ड ट्रम्प ने भी सत्ता हस्तांतरण के लिए अपनी स्वीकृति दे दी है।

अब इस सदन की सभापति और उपराष्ट्रपति निर्वाचित कमला हैरिस के टाई ब्रेकर मत से राष्ट्रपति निर्वाचित जोई बाइडेन को देश के सम्मुख प्रस्तुत अपने एजेंडे को कांग्रेस से पारित कराने और उसे लागू कराने में कोई वैधानिक अड़चन का सामना नहीं करना पड़ेगा।

राष्ट्रपति निर्वाचित जोई बाइडेन और उपराष्ट्रपति निर्वाचित कमला हैरिस को बुधवार को भारी हंगामे और सदन के बाहर हिंसक वारदात के बावजूद कांग्रेस के संयुक्त सत्र से निर्वाचित होने का प्रमाण पत्र मिल गया है। अब जोई बाइडेन और कमला हैरिस के 20 जनवरी को अधिकृत तौर पर कैपिटल हिल में शपथ लेने का रास्ता साफ हो गया है।

Shahjahanpur News In One Click | एक क्लिक में पढ़ें शाहजहांपुर जिले की हर बड़ी खबर

इस प्रक्रिया में कांग्रेस के संयुक्त सत्र के सभापति माइक पेंस के संयम और धैर्य की सराहना की जा रही है। माइक पेंस ने सदन की कार्यवाही शुरू होने और इलेक्टोरल मतों की गिनती के समय रिपब्लिकन पार्टी के कुछ सीनेटरों और प्रतिनिधियों के आक्रामक रवैए के बावजूद स्पष्ट कर दिया था कि वह इलेक्टोरल मतों के संदर्भ में वैधानिक तौर पर विवश हैं।

गौरतलब है कि जोई बाइडेन को 306 मतों और ट्रम्प को 232 इलेक्टोरल वोट मिले थे। इस तरह डेमोक्रेटिक पार्टी को एक दशक के बाद पहली बार अमेरिकी विधायिका कांग्रेस के दोनों सदनों में बहुमत हासिल हुआ है।जार्जिया अभी तक रिपब्लिकन स्टेट था। डेमोक्रेटिक पार्टी के नवनिर्वाचित सीनेटर राफ़ेल वारनेक ने रिपब्लिकन केली लोईफेर तथा जान ओसफ़ ने डेविड पेर्दुए को काँटे की टक्कर में हरा कर जोई बाइडेन के रथ के सारथी साबित हुए।

Bahraich News In One Click | सिर्फ एक क्लिक में पढ़ें बहराइच जिले खबर

अमेरिकी सीनेट विधायिका का एक महत्वपूर्ण अंग है। राष्ट्रपति निर्वाचित जोई बाइडेन को सत्तारूढ़ होने के पश्चात अब अपने मंत्रिमंडल के सदस्यों की सीनेट से पुष्टि करवाने और महत्वपूर्ण उपसमितियों जैसे वित्तीय और बजट, न्यायिक, रक्षा एवं विदेश समितियों के गठन में अड़चनें नहीं आएंगी। सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी के नेता मिच मेक्नोल के स्थान पर अब डेमोक्रेट चुक ई शूमर बहुमत दल के नेता होंगे। शूमर ने जोई बाइडेन और कमला हैरिस को आश्वस्त किया है कि डेमोक्रेटिक पार्टी के एजेंडे को सीनेट में पारित कराने में कोई अड़चन नहीं होगी।

उधर, सदन में हंगामा करने वाले सीनेटरों ने कल की घटना के लिए खेद जताते हुए क्षमा याचना की है। इस बीच डोनाल्ड ट्रम्प ने भी सत्ता हस्तांतरण के लिए अपनी स्वीकृति दे दी है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper