विधायक के विरोध में हुआ प्रदर्शन, लगे ‘काम नहीं, तो वोट नहीं’ के नारे

आईडीपीएल आवासीय संघर्ष समिति और जनकल्याण संघर्ष समिति कृष्णा नगर कॉलोनी अपनी मांगों को लेकर स्थानीय विधायक के खिलाफ धरना दे रहे हैं। संघर्ष समिति ने धरने के दौरान कहा कि ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के 171 बूथों पर काम नहीं तो वोट नहीं के नारे के साथ लोगों को विधायक के विरोध में वोट डालने के लिए कमेटियां गठित की जाएंगी। रविवार को हरिद्वार रोड दुर्गा मंदिर के पास किए गए सांकेतिक धरने के दौरान संघर्ष समिति की अध्यक्ष रामेश्वरी चौहान और डॉ बीएन तिवारी ने बताया कि उनके आंदोलन को कल्याण संघ संघर्ष समिति कृष्णा नगर कॉलोनी ने भी धार देने के लिए समर्थन दिया है।

विधायक

विधायक की है नैतिक जिम्मेदारी

उनका कहना था कि हम सब की समस्याएं आम जन समस्याएं हैं। दोनों समितियों ने उक्त समस्या को दूर करने के लिए स्थानीय विधायक की नैतिक जिम्मेदारी बताया। उन्होंने आरोप लगाया कि विधायक ने विगत 15 साल से विधायक रहने के बाद भी किसी भी जनहित की समस्याओं का समाधान नहीं किया गया। इसके कारण ऋषिकेश का विकास 15 वर्ष पीछे चला गया है। लोगों का आरोप था कि विधायक केवल सड़कें बनाने में रुचि रखते हैं।

देश में बढ़ता ही जा रहा है कोयला संकट, एनटीपीसी की दूसरी इकाई भी हुई बंद

नहीं है कोई चिंता

उन्हें जनता के स्वास्थ्य, स्थानीय युवाओं के रोजगार और ऋषिकेश के पर्यटन को बढ़ावा देने की कोई चिंता नहीं है। यही नहीं आईडीपीएल बापू ग्राम,मीरा नगर, शिवाजी नगर, गुमानीवाला, 20 बीघा बीरपुर खुर्द, गीता नगर और मनसा देवी विस्थापित क्षेत्रों आदि की समस्याएं दूर करने के बारे में विधायक कभी सोचने का कोई प्रयास नहीं किया।

आन्दोलन कुचलने को लिखवा रहे रासुका

वे अब उनके शांतिप्रिय आंदोलन को कुचलने की कोशिश में लोगों पर रासुका जैसे गंभीर धाराओं में मुकदमे लगवाने का प्रयास कर रहे हैं, जिसकी सभी लोग घोर निंदा करते हैं। धरना देने वालों में लाल शाह डेनियल ,सुरेश मौर्य, सुशीला देवी, सुधा गुप्ता, रामेश्वरी चौहान , नीलम चंदानी, उर्मिला गुप्ता, सुनील कुटलेहड़िया, सपना तिवारी आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper