अमेरिका में योग और भारतीयता की अलख जगाकर डॉ. मोक्षराज लौटेंगे स्वदेश

अमेरिका में योग और भारतीयता की अलग जगा कर हिंदी शिक्षक डॉ. मोक्षराज नए साल पर स्वदेश लौट रहे हैं। विश्व में प्रेम, शोंत एवं स्वास्थ्य रक्षा के महान उद्देश्य को पूरा करने के लिए भारत सरकार ने योग, संस्कृति एवं हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए विभिन्न देशों में 100 से अधिक भारतीय संस्कृति शिक्षक नियुक्त किए थे। डॉ. मोक्षराज को भारतीय दूतावास वाशिंगटन डीसी में नियुक्ति किया गया था। इससे अमेरिका में भारत की सॉफ्टपावर को नए पंख लगे। उनके नेतृत्व में अमेरिकी संसद कैपिटॉल हिल, व्हाइट हाउस और वाशिंगटन मोनुमेंट के सामने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से जुड़े  हजारों लोग योग कर चुके हैं ।

प्रवासी भारतीय समुदाय और 12 से अधिक देशों के नागरिक भी उनसे योग, हिन्दी तथा भारतीय संस्कृति की शिक्षा ले चुके हैं । डॉ. मोक्षराज ने एम्बेसी के साथ-साथ जॉर्ज वाशिंगटन यूनिवर्सिटी और जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी में भी हिन्दी एवं भारतीय संस्कृति की शिक्षा दी है। इसके लिए दोनों ही विश्वविद्यालयों ने भारत सरकार तथा भारतीय दूतावास की विशेष प्रशंसा की है ।

दीपावली के अवसर पर “ओम जय जगदीश हरे” भजन तथा अगस्त में भारतीय स्वतंत्रता दिवस पर “भारत का राष्ट्रगान” गाने वाली अफ्रीकन अमेरिकन मूल की हॉलीवुड अभिनेत्री तथा लोकप्रिय गायिका मैरी मिलबेन को भी डॉ. मोक्षराज ने ही प्रशिक्षित किया है। वे उन्हें हिंदी व भारत की संस्कृति से परिचित करा चुके हैं ।

डॉ. मोक्षराज ने अमेरिका में रहते हुए खादी एवं शाकाहार पर भी बहुत जोर दिया। वे इसे भारत की आर्थिक समृद्धि तथा पर्यावरण संतुलन के लिए महत्वपूर्ण उपाय मानते हैं।

अमेरिका में कोरोना की दस्तक होते ही मार्च में लॉकडाउन था। ऐसे समय में लोगों को एकाकीपन, तनाव, उदासी से उबारने के लिए तथा उनकी इम्युनिटी बढ़ाने के लिए एम्बेसी ने डॉ. मोक्षराज के निर्देशन में “योग आपके द्वार” (योगा एट होम) का नि:शुल्क ऑनलाइन कार्यक्रम आरंभ किया। यह योग कार्यक्रम साल 2020 के अंत तक चला।  इससे लाखों लोग लाभान्वित हुए।

दूतावास द्वारा वाशिंगटन डीसी स्थित द हार्टी एलीमेंटरी स्कूल तथा नेल एलीमेंटरी स्कूल को 2019 एवं 2020  में गोद लिया गया था । इन विद्यालयों के छात्रों को भी डॉ. मोक्षराज ने भारत की संस्कृति, खानपान, भूगोल और भारतीय वन्य जीवों के बारे में बताया। साथ ही उन्होंने योग तथा कुछ भारतीय खेलों के माध्यम से बच्चों में भारत के प्रति विशेष रुचि जगाई।

डॉ. मोक्षराज भारत के राजदूत नवतेज सरना, वर्तमान विदेश सचिव एवं अमेरिका में नियुक्त रहे राजदूत हर्षवर्धन शृंगला एवं  वर्तमान में कार्यरत भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू के कार्यकाल में काम कर चुके हैं। इन सभी ने डॉ. मोक्षराज की लगन, निष्ठा, सूझबूझ, कुशल प्रबंधन तथा व्यापक कार्य क्षमता की विशेष सराहना की है ।

अब डॉ. मोक्षराज तीन वर्ष का कार्यकाल पूरा कर 1 जनवरी को अमेरिका से स्वदेश लौट रहे हैं । वे राजस्थान के रहने वाले हैं ।

Related Articles

Back to top button
E-Paper