बहुत प्रयास करने के बाद भी पीएम मोदी नहीं कर पाए ये काम, ‘मन की बात’ में खुद किया खुलासा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को तमिल भाषा नहीं सीख पाने का अफसोस है। रविवार को उन्होंने मन की बात में कहा कि वे दुनिया की सबसे प्राचीन भाषा तमिल सीखने के लिए बहुत प्रयास नहीं कर पाये और इस भाषा को नहीं सीख पाए।

मन की बात

अपने रेडियो कार्यक्रम ‘Mann Ki Baat’ में प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं दुनिया की सबसे प्राचीन भाषा तमिल सीखने के लिए बहुत प्रयास नहीं कर पाया। इस भाषा को नहीं सीख पाया। उन्होंने कहा कि यह एक ऐसी सुंदर भाषा है, जो दुनिया भर में लोकप्रिय है। बहुत से लोगों ने मुझे तमिल साहित्य की श्रेष्ठता और इसमें लिखी गई कविताओं की गहराई के बारे में बताया है। लेकिन, मेरी एक कमी यह रही कि मैं तमिल भाषा नहीं सीख पाया।

प्रधानमंत्री मोदी अपने दूसरे कार्यकाल के 21वें ‘मन की बात’ कार्यक्रम में अपनी बात रख रहे थे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper