स्थापना दिवस पर याद किए गए राष्ट्रपिता एवं शास्त्री जी, सम्मानित किए गए संपादक आजाद

जौनपुर। आइडियल जर्नलिस्ट एसोसिएशन (इजा) का 20 वां स्थापना दिवस सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए सीमित पत्रकारों की संख्या में संपन्न हुआ। उक्त अवसर पर विशेष रूप से जनपद जौनपुर में क्रांतिकारी पत्रकारिता के प्रणेता क्रांतिकारी संपादक अनिल दुबे आजाद को सम्मानित किया गया ।

इस अवसर पर इजा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ प्रमोद वाचस्पति सहित संस्था के राष्ट्रीय संरक्षक द्वय डॉ सी डी सिंह एवं वरिष्ठ पत्रकार श्याम नारायण पांडे सहित अनेक पत्रकारों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं राष्ट्ररत्न पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के चित्र पर माल्यार्पण तथा दीप प्रज्वलन करके कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

मंचासीन संरक्षक द्वय ,इजा के राष्ट्रीय महासचिव डॉक्टर आरपी विश्वकर्मा, प्रांतीय संरक्षक संजय कुमार पांडे, जिला आजमगढ़ संरक्षक राजेंद्र प्रसाद राय ,जिला अध्यक्ष आजमगढ़ एवं पूर्वांचल प्रभारी अजय कुमार मिश्रा, दिल्ली प्रदेश सचिव डॉ राजेश जैन एवं क्रांतिकारी पत्रकार परिषद के संस्थापक व दैनिक राष्ट्रसाक्षी के संपादक अनिल दुबे आजाद ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को एक महान पत्रकार तथा सत्य एवं अहिंसा का पुजारी बताया। उन्होंने कहा कि आइडियल जर्नलिस्ट एसोसिएशन की स्थापना वर्ष 2000 में 2 अक्टूबर को इन्ही दो महापुरुषों के जन्म के दिन की गई थी, उनके बताए हुए मार्ग पर चलकर सभी पत्रकार आदर्श पत्रकारिता का मिसाल कायम कर सकते हैं।

इजा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ प्रमोद वाचस्पति ने पत्रकारों से निडर होकर निष्पक्ष एवं शुचिता पूर्ण पत्रकारिता करने का आवाहन किया। जिला महिला शाखा अध्यक्ष अंजू पाठक ने पत्रकारिता क्षेत्र में महिलाओं की भूमिका एवं महिला सशक्तिकरण पर अपने विचार व्यक्त किए। लखनऊ की पत्रकार जै़नब आकिल खान ने पत्रकारिता के क्षेत्र में पत्रकारों के समक्ष आने वाली समस्याएं एवं दुश्वारियां पर प्रकाश डाला।

इस मौके पर शशिधर तिवारी मुंबई, विवेकानंद पांडे, नूरुल ऐन फिरोजी, रवि दीक्षित, विवेक तिवारी, मनोज कुमार पांडे, गोरख राजभर ,मार्कंडेय तिवारी, अंगद कुमार राही, रामसमुझ यादव, कौशलेंद्र गिरी ,डॉ हरिश्चन्द्र यादव, जावेद आलम राजेश कुमार गुप्ता, बजरंगबली साव, जुबेर अहमद आदि की उपस्थिति उल्लेखनीय रही। कार्यक्रम का संचालन इजा के जिला अध्यक्ष आद्या प्रसाद सिंह तथा अध्यक्षता डॉ सी डी सिंह ने किया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper