1966 के बाद पहली बार होगा ऐसा, गणतंत्र दिवस पर कोई विदेशी नेता नहीं बनेगा चीफ गेस्‍ट

नई दिल्ली इस वर्ष के गणतंत्र दिवस समारोह में विशेष अतिथि के रूप में कोई विदेशी राष्ट्राध्यक्ष या प्रमुख नेता शामिल नहीं होगा। कोरोना महामारी के मद्देनजर यह फैसला किया गया है। वर्ष 1966 के बाद यह पहला मौका होगा जब राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड के अवसर पर कोई विदेशी राष्ट्राध्यक्ष या प्रमुख नेता शामिल नहीं होगा।

गणतंत्र दिवस

उल्लेखनीय है कि पहले ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन परेड में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होने वाले थे। हालांकि ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्वरूप के मामले सामने आने के बाद उन्होंने अपनी यात्रा को रद्द कर दिया।

अमेरिका के इस प्रांत में लगाया गया आपातकाल, लोगों को घरों में ही रहने के दिए गए आदेश

भारत ने ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर भी कुछ समय के लिए रोक लगा दी थी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper