अमेरिकी संसद में ट्रंप समर्थकों का बवाल, 4 की मौत, कर्फ्यू लगा

अमेरिकी संसद

वाशिंगटन: अमेरिका के वाशिंगटन में डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने जमकर उत्पात मचाया। अमेरिकी संसद हुए बवाल में अब तक चार लोगों की मौत हो गई है। हिंसा को देखते हुए वाशिंगटन मेयर ने कर्फ्यू का ऐलान किया है।

अमेरिका: ट्रंप समर्थकों का अभूतपूर्व हंगामा,एक की मौत, बाइडेन बोले- राजद्रोह

निवर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने अमेरिकी संसद में घुसकर अभूतपूर्व रूप से उत्पात मचाया। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों के साथ प्रदर्शनकारियों की झड़प में एक महिला की मौत हो गयी। हंगामा उस समय शुरू हुआ जब नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन की चुनावी जीत को प्रमाणित किया जाना था। जो बाइडेन ने उपद्रव को राजद्रोह बताते हुए ट्रम्प समर्थकों से शांति की अपील की।ट्रम्प समर्थकों ने सुरक्षा के तमाम प्रबंधों को धता बताते हुए अमेरिकी संसद `कांग्रेस’ में घुसकर उपद्रव किया।

दरअसल, अमेरिकी कांग्रेस में इलेक्टोरल कॉलेज को लेकर बहस चल रही थी जिसमें जो बाइडेन की जीत की पुष्टि की जानी थी। सांसद संयुक्त सत्र के लिए कैपिटल के भीतर बैठे थे, तभी यूएस कैपिटल पुलिस ने सुरक्षा के उल्लंघन की घोषणा की। कांग्रेस को मजबूरन अपनी कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी।

संसद के संयुक्त सत्र शुरू होने से पहले निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने वाशिंगटन डीसी में अपने हजारों समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि वे चुनावी हार को स्वीकार नहीं करेंगे। उनका आरोप था कि चुनाव में उनके डेमोक्रेटिक प्रतिद्वंद्वी जो बाइडेन के लिए धांधली की गयी है। उन्होंने कहा कि जब धांधली हुई हो तब आपको अपनी हार स्वीकार नहीं करनी चाहिए। उन्होंने इस दौरान दावा किया कि चुनाव में उन्होंने शानदार जीत हासिल की है।

चुनाव नतीजों को लेकर ट्रम्प के भाषण के बाद बड़ी संख्या में ट्रम्प के समर्थकों ने कैपिटल हिल को घेर लिया और उपद्रव शुरू कर दिया। उग्र प्रदर्शनकारियों ने अवरोधकों को तोड़ दिया और कांग्रेस के उच्च सदन में घुस गए। सुरक्षाकर्मियों के साथ प्रदर्शनकारियों की झड़प के दौरान एक महिला बुरी तरह से घायल हो गयी जिसकी मौत हो गयी।

इस अभूतपूर्व हंगामे को लेकर हर तरफ प्रतिक्रिया देखी जा रही है। अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस हिंसा को राजद्रोह बताते हुए ट्रम्प समर्थकों से तत्काल वापस लौटने और लोकतंत्र को अपना काम करने देने की अपील की।

Related Articles

Back to top button
E-Paper