यूपी में खोले जाएंगे चार हजार धान क्रय केंद्र, पहली अक्टूबर से शुरु होगी खरीद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पहली अक्टूबर से मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत धान की खरीद शुरु हो जाएगी। इसके लिए प्रदेश भर में चार हजार क्रय केंद्र खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को निर्देश दिया कि धान की खरीद के लिए सभी प्रबन्ध करते हुए यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को कोई असुविधा न हो।

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि सीएम योगी ने निर्देश दिए हैं कि किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य के अनुसार उनकी उपज की खरीद की व्यवस्था की जाए। उन्होंने बताया कि धान खरीद वर्ष 2020-21 हेतु धान काॅमन का समर्थन मूल्य 1,868 रुपए प्रति कुन्तल तथा ग्रेड-ए धान का समर्थन मूल्य 1,888 रुपए प्रति कुन्तल निर्धारित किया गया है।

सरकारी प्रवक्ता के अनुसार धान क्रय हेतु खाद्य विभाग की विपणन शाखा, एसएफसी, पीसीएफ, पीसीयू, मण्डी परिषद, एनसीसीएफ, नैफेड, भारतीय खाद्य निगम, उप्र उपभोक्ता सहकारी संघ (यूपीएसएस) एवं उप्र राज्य कृषि एवं औद्योगिक निगम (यूपी एग्रो) द्वारा कुल-4000 क्रय केन्द्र खोले जाएंगे। उपरोक्त क्रय एजेन्सियां अपनी संस्था के क्रय केन्द्रों के अतिरिक्त पंजीकृत सोसाइटी व मल्टी स्टेट को-आपरेटिव सोसाइटी, एफपीओ व एफपीसी को सम्बद्ध कर उनके माध्यम से भी धान क्रय कर सकेंगी। उन्होंने बताया कि खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में धान क्रय 55 लाख मीटरी टन व आवक के दृष्टिगत अधिक क्रय किया जाएगा।

प्रवक्ता ने आगे बताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लखनऊ सम्भाग के जनपद लखीमपुर, हरदोई, सीतापुर तथा बरेली, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, झांसी मण्डलों में 01 अक्टूबर से 31 जनवरी, 2021 तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के लखनऊ सम्भाग के जनपद लखनऊ, रायबरेली, उन्नाव तथा चित्रकूट, कानपुर, अयोध्या, देवीपाटन, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, वाराणसी, विन्ध्यांचल एवं प्रयागराज मण्डलों में 15 अक्टूबर, 2020 से 28 फरवरी, 2021 तक धान की क्रय होगी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper