दहेज के लिए महिला और उसके बच्चे को किया आग के हवाले, दोनों की दर्दनाक मौत

दहेज

गया जिले के बाराचट्टी थाना क्षेत्र के नीमा गांव में शुक्रवार की देर रात्रि दहेज के लिए एक महिला और उसके बच्चे की जलाकर मार दिया गया। शनिवार घटना प्रकाश में आया। शनिवार को ग्रामीणों की भीड़ घटनास्थल पर उमड़ पड़ा। घर के आंगन में दो साल का बच्चा समेत अर्चना का शव पड़ा था। उसके बगल में उसकी सास पचिया देवी बैठकर रो रही थी।

मृतका के पिता मोहनपुर के जोगर निवासी शत्रुध्न सिंह ने कहा कि तीन साल पहले उन्होंने अपनी बेटी की शादी नीमा निवासी मुनारिक सिंह के पुत्र संटू सिंह के साथ किया था। शादी के बाद लगातार उनकी लड़की पर नैहर से पैसा लाने का दवाब बनाया गया। उन्होंने बताया कि शादी में अपनी औकात के अनुसार दहेज-दान देकर बेटी की शादी की थी। पैसा को लेकर लगातार ससुराल वाले के द्वारा अर्चना को प्रताड़ित किया जा रहा था। अर्चना ने फोन करके पैसे की मांग और मारपीट की घटना की जानकारी नैहर के परिजनों को दी थी। शुक्रवार के रात्रि इसकी सास पचिया देवी ने किराशन तेल उड़ेलकर आग लगा दी। जिससे दो साल का बेटा और अर्चना बुरी तरह से झुलश गयी और मौत हो गई।

सीरिया में एयरस्ट्राइक के बाद जो बाइडेन ने ईरान को दी सावधान रहने की चेतावनी

घटना की जानकारी आस-पास के लोगों के द्वारा अर्चना के मायके वालों को दिया गया। जिसके बाद मायके वालों ने घटना के बारे में बाराचट्टी पुलिस को बताया। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया है। इधर घर मे बैठी मृतका की सास को भी पुलिस ने हिरासत में ले रखा है।शव को पोस्टमार्टम के लिए मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल गया को भेज दिया है। स्थानीय लोगों ने बताया कि मृतक के ससुर और पति सूरत में रहकर कार्य करते है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper