Global handwashing day: बाराबंकी में शिक्षक भर्ती के दौरान सिखाये गए हाथ धोने के तरीके

ग्लोबल हैंड वॉश डे का हर वर्ष 15 अक्टूबर का आयोजन किया जाता है। इस कोरोना काल में हाथ धोने का महत्व काफी ज्यादा बढ़ गया है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश के बाराबंकी स्थित कम्पोजिट विद्यालय बड़ेल में 69000 शिक्षक भर्ती की प्रक्रिया के बीच ग्लोबल हैंड वॉश डे का आयोजन किया गया। आयोजन के दौरान बताया गया कि हाथ धोते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

बाराबंकी के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने कार्यक्रम में कहा कि कोरोना महामारी के बीच सरकार के कोरोना बचाव के नियमों का हम सब को भली-भांति पालन करना चाहिए। आज लोग हाथ धुलते हैं, लेकिन हाथ धुलने के तरीके के बारे में भी अनजान है हमें हाथ धुलते समय बहुत सावधानी रखनी चाहिए।

इस मौके पर जिला स्काउट मास्टर राजेंद्र त्रिपाठी ने कहा कि कार्यक्रम के दौरान हाथ धोने के तरीकों के बारे में बताया गया। कोरोना महामारी के दौरान हाथ धोने बहुत जरूरी है। हमने सभी से अपील की है कि हैंड वॉश करें। इस दौरान मौजूद सभी लोगों ने हाथ धोने का प्रशिक्षण लिया।

इस मौके पर प्रधानाध्यापिका सुषमा यादव ने कहा कि कोरोना महामारी से जीतने के लिए सभी ढंग से हैंड वॉश करना चाहिए। इसके अलावा भी हम बच्चों को हैंड वॉश करने के बारे में बताते रहते हैं। उन्होंने बताया कि हाथ को किस तरह से धोना चाहिए।

इस मौके पर बेसिक शिक्षा अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी अजीत सिंह, स्काउट मास्टर राजेंद्र त्रिपाठी, प्रधानाध्यापिका सुषमा यादव, आलोक सिंह देवा, नवाब वर्मा, रूद्र प्रताप यादव सहित तमाम टीचर्स उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper