फरवरी में खुलेगा गोमती नगर स्टेशन का नया एंट्री गेट, ऐसे मिलेगी लोगों को राहत

गोमती नगर स्टेशन

लखनऊ: राजधानी लखनऊ के गोमती नगर रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाने का कार्य जोरों से चल रहा है। स्टेशन का नया प्रवेश द्वार (एंट्री गेट) फरवरी महीने में खुलेगा। इसके साथ ही लोगों को बड़ी राहत भी मिलेगी। इस एंट्री गेट के खुलने से चार से पांच किलोमीटर की दूरी कम हो जाएगी।

उप्र: योगी सरकार के मंत्री का बड़ा बयान, ‘आप’ की हरकत और भाषा दोनों गलत

राजधानी लखनऊ के गोमती नगर रेलवे स्टेशन का दूसरा प्रवेश द्वार खुलने से ट्रेन पकड़ने वाले यात्री विभूति खंड के रास्ते स्टेशन पहुंच सकेंगे। 31 जनवरी के बाद दूसरा प्रवेश द्वार खोला जाएगा। प्रवेश द्वार को 31 जनवरी के बाद फरवरी में खोलने की तैयारी चल रही है। अभी तक यात्री गोमती नगर के मिठाई चौराहा होकर स्टेशन पहुंचते हैं।

गोमती नगर रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाने के लिए रेल भूमि विकास प्राधिकरण एक निजी कंपनी के साथ मिलकर कार्य कर रहा है। लॉक डाउन के बाद से इस प्रोजेक्ट पर तेजी से काम हो रहा है। नौ रेलवे लाइन और सात यात्री प्लेटफार्म का स्वरूप तैयार हो गया है। मुख्य रोड को गोमती नगर स्टेशन से जोड़ने का कार्य भी शुरू भी कर दिया गया है। जहां यात्री वाहनों से पहुंचकर स्टेशन के किसी भी प्लेटफार्म पर पहुंच सकेंगे।

इस महीने की 31 जनवरी तक मुख्य मार्ग से गोमती नगर रेलवे स्टेशन का दूसरा एंट्री गेट जुड़ जाएगा। रेल भूमि विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को पूर्वोत्तर रेलवे के जीएम ने तय समय पर सड़क बनाकर दूसरे एंट्री गेट से जोड़ने का आदेश दिया हैं।

पूर्वोत्तर रेलवे के लखनऊ के जनसंपर्क अधिकारी महेश गुप्ता ने मंगलवार को बताया कि यात्री 31 जनवरी के बाद फरवरी में दूसरे एंट्री गेट से गोमती नगर रेलवे स्टेशन से ट्रेन पकड़ सकेंगे। इससे चार से पांच किलोमीटर की दूरी कम हो जाएगी और समय भी बचेगा।

दरअसल, गोमती नगर रेलवे स्टेशन को अभी रोजाना 125 से 150 ट्रेनों की क्षमता के हिसाब से बनाया जा रहा है, जबकि एक और प्लेटफार्म बढ़ने से 190 ट्रेनों के संचालन की क्षमता हो जाएगी। चारबाग स्टेशन पर अभी करीब 290 और लखनऊ जंक्शन की 40 ट्रेनों के दबाव को कम करने के लिए गोमती नगर स्टेशन की क्षमता को बढ़ाया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper