गोंडा : सोते समय तीन दलित बहनों पर फेंका तेजाब, एक की हालत नाजुक

विश्ववार्ता संवाद

गोंडा। उत्‍तर प्रदेश में महिलाओं के प्रति अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। जिले के परसपुर थाना क्षेत्र के पक्का गांव में मंगलवार की भोर में तीन सगी बहनों पर सोते समय एसिड फेंक दिया गया। इस अटैक में बड़ी बहन गंभीर रूप से झुलस गई है, जबकि उसकी दो छोटी बहनों पर भी तेजाब के छीटें पड़े हैं। तीनों को जिला अस्पताल मे भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है। घटना के कारणों का पता नहीं चल सका है। फिलहाल वारदात की सूचना मिलते ही स्थानीय थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और वारदात की छानबीन शुरू कर दी है।

गोंडा

पक्का गांव की रहने वाली तीन सगी बहनों पर केमिकल अटैक हुआ है। बड़ी बहन करीब 30 फीसदी तक झुलसी है जबकि अन्य दो को 5-7 फीसदी इंजरी है। घटना की जांच की जा रही है। पीड़ित परिवार दलित है और तीनों बहने अभी नाबालिग हैं। पीड़ित परिवार की तरफ से अब तक किसी पर शक नहीं जताया गया है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है, जल्द ही इसका खुलासा किया जायेगा और जो भी आरोपी होंगे उनके खिलाफ कडी से कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
-शैलेश कुमार पांडेय, पुलिस अधीक्षक, गोण्डा

एसिड अटैक का यह सनसनीखेज मामला परसपुर थाना क्षेत्र के पक्का गांव का है। गांव के रहने वाले गुरई के मुताबिक उसकी तीन बेटियां घर की पहली मंजिल पर एक ही कमरे में सो रही थी। सुबह अचानक किसी ने उनके रोशनदान के जरिए से उनके कमरे में तेजाब फेंक दिया। तेजाब पड़ने से तीनों सगी बहने झुलस गईं। गुरई ने बताया कि जब उसने बेटियों के चीखने की आवाज सुनी तो वह भागकर उनके कमरे में पहुंचा। देखा तो बेटियां गंभीर रूप से झुलस चुकी थीं।

बड़ी बेटी के ऊपर अधिक मात्रा में तेजाब गिरा है और वह बुरी तरह से झुलस गई है, जबकि दो अन्य बेटियों पर भी तेजाब के छीटें पड़े हैं। गुरई ने बताया कि बड़ी बेटी की उम्र करीब 17 वर्ष है, जबकि एक की उम्र 12 व सबसे छोटी की उम्र करीब 8 वर्ष है। एसिड अटैक की इस सनसनीखेज वारदात से गांव में हड़कंप मच गया है। वहीं मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों बहनो को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां उनका इलाज चल रहा है। गुरई का कहना है कि उसकी किसी से कोई रंजिश नहीं है।

परसपुर एसओ सुधीर सिंह ने एसिड अटैक की पुष्टि की है। इस मामले में अज्ञात हमलावर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

फोरेंसिक व डाग स्क्वायड टीम के साथ मौके पर पहुंचे एसपी

तीन दलित बेटियों पर एसिड अटैक की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय पहले जिला अस्पताल पहुंचे और पीड़ित बेटियों का हाल लिया। एसपी ने परिवार के लोगों से घटना के बारे मे जानकारी हासिल की और उन्हे हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। इसके बाद वह फोरेंसिक टीम व डाग स्क्वायड की टीम के साथ परसपुर के पक्का गांव पहुंचे और वारदात के संबंध मे आसपास के लोगों से पूछताछ की। वहीं फोरेंसिक टीम ने भी मौके से तेजाब व अन्य संदिग्ध वस्तुओं के नमूने लिए हैं। इस सनसनीखेज वारदात से पूरे गांव मे दहशत का माहौल है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper