गोरखपुर: सीएम योगी ने साकार किया शहर में 22 हजार लोगों के अपने घर का सपना

ई-पॉप मशीन

रिकार्ड संख्या में लोगों को दिया गया प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर शहर के करीब 22 हजार लोगों के अपने घर के सपने को साकार किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संकल्प है कि 2022 तक देश के सभी गरीबों और जरूरतमंदों को छत मुहैया हो सके। इसके लिए योगी सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लोगों को अपना घर दिलाने के लिए रिकार्ड लोगों को लाभान्वित कर रही है।

गोरखपुर में प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत 21 हजार 750 लोगों के घरों का सपना साकार हुआ है और लोग उनमें रह भी रहे हैं। योजना के तहत पहले आनलाइन आवेदन केंद्र सरकार की वेबसाइट पर करना होता है। इसके बाद एक निजी कंपनी इसका डीपीआर (डिटेल प्रोजक्ट रिपोर्ट) तैयार करती है। इसके बाद तहसील और ब्लाक स्तर से इसकी जांच होती है। फिर इसकी रिपोर्ट केंद्र सरकार को जाती है। वहां से स्वीकृत होने के बाद रकम तीन किश्तों में क्रमशः पचास हजार, डेढ लाख और अंतिम किश्त पचास हजार लाभार्थी के खाते में सीधे दी जाती है।

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत लाभांवित हुए महानगर के रायगंज उत्तरी के विपत सिंह ने इसके लिए योगी और मोदी सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा कि उन्हें मिशन-3 के तहत 2.04 लाख का अनुदान मिला था, जिसकी वजह से उनके घर का सपना पूरा हो सका है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी के प्रयासों का परिणाम है कि आज उनका पूरा परिवार पक्के मकान में रह सकता है। इससे पहले की सरकारों में भी उन्होंने इसके लिए कई प्रयास किए थे, लेकिन उनका सपना योगी सरकार ने साकार किया है।

कभी खुद की छत के बारे में नहीं था सोचा

महानगर के वार्ड नं 9 की भानमती कहती हैं कि रोजी-रोटी जुटाने में ही जिंदगी कैसे बीती पता ही नहीं चला। कभी खुद की छत के बारे में सोचा नहीं था। फिर किसी ने बताया कि सरकारी आवास योजना के तहत घर बनाने के लिए सरकार पैसे दे रही है। हमने भी आवेदन कर दिया और कुछ दिनों में घर बनवाने के लिए खाते में पैसे आ गए,  जिससे आज मेरा परिवार खुद के घर में रह रहा है।

योगी सरकार की अच्छी नीतियों के चलते हुआ संभव

वार्ड नं 19 की पानमती कहती हैं कि हम लोगों के पुश्तैनी खपरैल के मकान थे, लेकिन मरम्मत के अभाव में दिन ब दिन घर गिरता चला गया। एक समय ऐसा आ गया कि घर तो था, लेकिन उस पर छत नहीं थी। ऐसे में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिला लाभ हम लोगों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। आज बिना किसी के आगे हाथ फैलाए खुद का घर है। उन्होंने कहा कि यह सब योगी सरकार की अच्छी नीतियों के चलते ही संभव हो पाया है।

मोदी और योगी ने गरीबों को मुहैया कराई छत

वार्ड नं 9 की मंजू देवी कहती हैं कि इस योजना के तहत सिर्फ उनका ही नहीं, बल्कि उनके वार्ड में दर्जनों परिवार को सिर्फ छत ही नहीं मिली, बल्कि सभी का खुद के घर का सपना भी पूरा हुआ है। वे कहती हैं कि सरकारें बहुत आईं, लेकिन किसी ने कभी गरीबों के खुद के घर होने के बारे में नहीं सोचा, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने ऐसा करके हजारों परिवार को रहने के लिए छत दे दिया।

यकीन नहीं होता कि खुद के घर में रहने लगी

इसी वार्ड की सुधा को आज भी इस बात पर यकीन नहीं होता कि वह खुद के घर में रहने लगी हैं। उन्होंने बताया कि पैसों के अभाव में दो वक्त की रोटी जुटाना ही मुश्किल होता था, ऐसे में घर बनवाना तो हम जैसे गरीबों के लिए एक सपना ही था, लेकिन पहली बार किसी सरकार ने हमारा वो सपना पूरा किया, जिसे देखता तो हर कोई है, लेकिन पूरा कर पाना शायद सभी के लिए संभव नहीं होता। उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार भी व्यक्त किया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper