अयोध्या: दिवाली पर सजेंगे 5.5 लाख दीयों से घाट, सीएम योगी ने की श्रीराम की आरती

राम की नगरी अयोध्या में आज शानदार तरीके से दिवाली मनाई जा रही है। ऐतिहासिक राम मंदिर की नींव पड़ने के बाद पहली बार अयोध्या में दिवाली का त्योहार मन रहा है। ऐसे में तैयारी भी खास है। सीएम योगी शाम को दीपोत्सव में शामिल होंगे, जहां 5 लाख से अधिक दीयों को जलाया जाएगा। इसके अलावा भी झांकी, लाइटिंग समेत अन्य व्यवस्थाएं की गई हैं।

पांच दशक बाद दीपावली के शुभ अवसर पर अयोध्या इस बार नया इतिहास लिख रही है। राम एनजीआरआई घाटों से लेकर नदियों तक, आसमान से लेकर धरती तक, पेड़-पौधे, दीवार, घर, दुकान-मकान सब कुछ राममय हो गया है। दीपावली का यह अलौकिक दृश्य देखते ही बन रहा है। पावन व सलिल सरयू नदी के तट पर शुक्रवार को त्रेता युग जीवंत हो उठा।

यहां हेलिकॉप्टर (पुष्पक विमान) से राम की पैड़ी के रामकथा पार्क में भगवान श्रीराम, सीताजी तथा लक्ष्मण के स्वरूप के उतरने पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के साथ मुख्यमंत्री  योगी आदित्यनाथ तथा उनके मंत्रिमंडल के सहयोगियों ने स्वागत किया, जिसके बाद श्रीराम, माता सीता तथा लक्ष्मण जी रथ पर सवार होकर रामकथा पार्क पहुंचे। राम दरबार में  श्रीराम का राज्याभिषेक करते हुए राज्यपाल ,मुख्यमंत्री व अन्य विशिष्ट जनों ने राम सीता और लक्ष्मण की आरती उतारी गई।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य तथा उत्तर प्रदेश के मंत्रिमंडल के सदस्यों ने भी आरती की। इससे पूर्व राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में रामजन्मभूमि स्थल पर दीपोत्सव के अवसर पर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्यों के साथ श्रीरामलला की पूजा की। श्री राम जन्मभूमि के अस्थाई श्री राम मंदिर में करीब पांच सौ वर्ष बाद दीपक जला और धनतेरस के पर्व पर दीपावली की पूजा की गई।

दिव्य दीपोत्सव की शुरुआत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रामलला के सम्मुख घी का दीपक जलाकर शुभारंभ किया। इसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इससे पहले रामकथा पार्क में श्रीराम से संबंधित प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। इनके साथ मंत्रिमंडल के सहयोगी तथा शासन के शीर्ष अधिकारी गण भी थे। इस अवसर पर अयोध्या के प्रमुख मंदिरों के संत महंत के साथ बड़ी संख्या में दर्शक भी राम कथा पार्क में मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper