एचएएल कर्मचारी गिरफ्तार, आईएसआई को देता था अहम जानकारियां

नई दिल्ली। महाराष्ट्र ​​एटीएस नासिक के ओझर स्थित हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड​ (एचएएल)​ के एक कर्मचारी को गिरफ्तार किया है। यह कर्मचारी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ​​आईएसआई ​के संपर्क में था और ​उसे भारत के लड़ाकू विमानों ​की जानकारी ​देता था। इस कर्मचारी ने ​​​एचएएल ​​के एयरक्राफ्ट मैन्युफैक्चरिंग यूनिट​ के बारे में भी आईएसआई ​को जानकारी दी है​। ​​महाराष्ट्र ​​एटीएस ने जासूस को गिरफ्तार ​करके अदालत में पेश किया, जहां से जासूस को 10 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा​ गया है​​।

महाराष्ट्र ​​​एटीएस ​को ​​​​​एचएएल​ के इस कर्मचारी के बारे में खुपिया जानकारी मिली थी कि ​वह पाकिस्तान का जासूस है और भारत के बारे में पाकिस्तान को मुहैया करवा रहा है​।​ इस पर ​एटीएस​ ने उस पर कई दिनों तक नजर रखी और जानकारी पुख्ता होने के बाद इस सीक्रेट ​ऑ​परेशन को महाराष्ट्र एटीएस के प्रमुख देवेन भारती के नेतृत्व में अंजाम दिया गया। ​​एटीएस की सख्त पूछताछ में ​उसने स्वीकार किया है कि वह आईएसआई के संपर्क में था। वह काफी दिनों से भारतीय फाइटर प्लेन और एयरक्राफ्ट मैन्युफैक्चरिंग यूनिट की ​भी ​जानकारी आईएसआई को देता रहा है।​

महाराष्ट्र एटीएस ने ​​एचएएल​ के इस कर्मचारी के नाम का अभी खुलासा नहीं किया है​।​ उसके खिलाफ ​​ऑफिसियल सीक्रेट एक्ट की धारा 3, 4 और 5 के तहत मामला दर्ज किया ​गया ​है​​। ​उसके पास से एटीएस को तीन मोबाइल फोन और 5 सिम कार्ड मिले हैं। इसके अलावा दो मेमोरी कार्ड भी जब्त किए गए हैं। यह सभी सामान फॉरेंसिक जांच के लिए प्रयोगशाला में भेजे गए हैं।​ ​एटीएस ने ​उसे अदालत में पेश ​करके ​10 दिन की हिरासत में ​लिया है।​

उल्लेखनीय है कि नासिक के ​​ओझर में​ हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड की शाखा है।​ ​एचएएल​ की यह यूनिट ​भारतीय वायु सेना​ के लिए इसलिए सबसे महत्वपूर्ण है, क्योंकि यहीं पर लड़ाकू विमान सुखोई-30 एमकेआई ​को अत्याधुनिक ​बनाने का काम चल रहा है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper