गृहमंत्री अमित शाह से मिले हरियाणा के शिक्षा मंत्री, कैमला में हुई घटना पर हुई चर्चा

चंडीगढ़ हरियाणा के शिक्षा एवं संसदीय कार्य मंत्री कंवर पाल ने कहा है कि गठबंधन सरकार के पास बहुमत के लिए जरूरी आंकड़ा उपलब्ध है। कोई भी विधायक सरकार से बाहर नहीं है। उन्होंने कहा कि 90 विधायकों वाली विधानसभा में सरकार बनाने 47 विधायकों की अवश्यकता है। सत्तारूढ़ गठबंधन के पास इससे कहीं अधिक विधायकों का आंकड़ा उपलब्ध है। विपक्षी राजनीतिक दल मुद्दाविहीन होकर गलत बयान बाजियां कर रहे हैं।

हरियाणा

गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करके लौटे कंवर पाल ने बुधवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि किसान आंदोलन के दौरान प्रदेश सरकार ने बेहद संयम से काम लिया और कहीं पर भी लाठीचार्ज किए बगैर ही किसान आंदोलन को चलने दिया। यही नहीं सोनीपत की सीमा में बैठे किसानों को भी सरकार द्वारा बुनियादी सुविधाएं मुहैया करवाई जाने पर गृहमंत्री पूरी तरह से संतुष्ट हैं।

महाराष्ट्र के मंत्री धनंजय मुंडे की बढ़ीं मुसीबतें, चुनाव आयोग में दर्ज कराई गई शिकायत

करनाल जिला के गांव कैमला में हुए घटनाक्रम को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा है कि फिलहाल भाजपा द्वारा सरकार व संगठन के स्तर पर किसान महापंचायत जैसे कार्यक्रमों का आयोजन नहीं किया जाएगा। यही नहीं अभी किसी तरह के सार्वजनिक कार्यक्रम को टाला जाएगा। क्योंकि सरकार किसी तरह का टकराव नहीं चाहती है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा में कुछ जगहों पर केवल वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया है। पुलिस के दृष्टिकोण से यह बेहद हलका बल है। वाटर कैनन को कठोर बल की श्रेणी में नहीं लिया जाता। गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात के दौरान करनाल के गांव कैमला में हुई घटना पर विस्तार से चर्चा की गई जिसके बाद अभी किसी तरह के सार्वजनिक कार्यक्रम एवं किसान महापंचायत जैसे कार्यक्रम टालने का फैसला लिया गया है। गुर्जर ने कहा कि किसान आंदोलन से निपटने की सरकार की रणनीति से गृहमंत्री पूरी तरह से संतुष्ट नजर आए।

Related Articles

Back to top button
E-Paper