हरियाणा सरकार 1 लाख कोरोना संक्रमितों को बांटेगी पतंजलि की कोरोनिल किट, आईएमए ने जताया कड़ा एतराज

हरियाणा सरकार ने पतंजलि की 1 लाख कोरोनिल दवा बंटवाने का फैसला किया है। ये दवाएं कोरोना संक्रमित लोगों में बांटी जाएंगी। सूबे के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी। इसका आधा खर्च हरियाणा सरकार और आधा पतंजलि उठाएगी। योगगुरु बाबा रामदेव के एलोपैथ पर दिए गए बयान के बीच हरियाणा सरकार के इस फैसले पर सोशल मीडिया पर लोग सवाल खड़े कर रहे हैं।

वहीं बाबा रामदेव ने बाकी राज्यों से भी अपील की है कि वो भी आगे आएं। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार की तरह दूसरी केंद्र व राज्य सरकारों को भी कोरोनामुक्ति की ऐसी पहल के लिए आगे आना चाहिए। पतंजलि अपने सहयोग के लिए प्रतिबद्ध है।

राज्य सरकार के इस फैसले का इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने विरोध जताया है। आईएमए ने कड़ा एतराज जताते हुए कहा कि कोरोनिल जानलेवा है और इस पर बेवजह पैसा बरबाद किया जा रहा है। इस फैसले पर पुनर्विचार किया जाए।

विज के इस फैसले पर आईएमए के स्टेट प्रेसिडेंट डॉ .करन पूनिया ने पुनर्विचार करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि कोरोनिल कहीं से भी अप्रूव्ड दवा नहीं है। ऐसे में इसकी एक लाख किट खरीद पर आधा पैसा खर्च करना भी बर्बादी है। डॉक्टर पूनिया ने कहा कि आईएमए ने आरटीआई लगाई थी जिसमें बाबा रामदेव की ओर से कोरोनिल को डब्ल्यूएचओ से मान्यता का दावा भी फर्जी निकला है। उन्होंने कहा कि कोरोनिल की खरीद पर पैसे की बर्बादी के साथ कोरोना मरीज़ों की जान से भी खिलवाड़ होगा।

वहीं बता दें कि जब स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज कोरोना से संक्रमित हुए थे तो वो हरियाणा के मेदांता अस्पताल में भर्ती हुए थे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper