हाथरस गैंगरेप : योगी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल, सूबे में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

लखनऊ। दिल्‍ली के सफदरजंग अस्‍पताल में हाथरस गैंगरेप की पीड़िता की मौत के बाद आम लोगों में बेहद गुस्सा है। परिजनों के विरोध के बावजूद यूपी पुलिस द्वारा मंगलवार देररात ही पीड़िता का अंतिम संस्‍कार कर देने से लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। कांग्रेस, सपा, बसपा, आप और भीम आर्मी आदि सियासी पार्टियों और संगठनों ने योगी सरकार के खिलाफ हल्ला बोला है। यूपी में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग हो रही है।

हाथरस गैंगरेप की पीड़िता की मौत के बाद सियासी पार्टियों समेत आम लोगों के आक्रोश को देखते हुए यूपी पुलिस ने जबरन रातोंरात पीड़िता का अंतिम संस्कार करा दिया गया। हालांकि सूबे के आलाधिकार्यों का कहना है कि पीड़िता के परिजनों की मर्जी से ही अंतिम संस्‍कार किया गया है, लेकिन मौके के वीडियो और तस्‍वीरें असलियत बयां कर रही हैं।

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने यूपी पुलिस की इस हरकत को अमानवीय और कायराना बताया है। कांग्रेस ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है, ‘निर्दयता की हद है ये। जिस समय सरकार को संवेदनशील होना चाहिए उस समय सरकार ने निर्दयता की सारी सीमाएं तोड़ दी।’ आम आदमी पार्टी ने तो अपने फेसबुक पेज पर पीड़िता के अंतिम संस्‍कार का वीडियो डाला है।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता की मौत के बाद दिल्ली से लेकर हाथरस और लखनऊ तक आम लोगों का आक्रोश फुट पड़ा है। सफदरजंग अस्पताल के बाहर जमकर प्रदर्शन हुआ, कैंडल मार्च निकाले गए। कांग्रेस,सपा, बसपा, आप और भीम आर्मी जैसे समेत तमाम सियासी पार्टियों और संगठनों ने योगी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल दिया है। यूपी में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग हो रही है। ट्विटर और पर हाथरस कांड छाया हुआ है। लोग इंसाफ की मांग कर रहे हैं।

हाथरस गैंगरेप मामले को लेके शुरू से ही आक्रामक रही कांग्रेस ने इस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘खामोशी’ पर सवाल उठाया है। पार्टी नेता राहुल गांधी ने यूपी में जंगलराज होने का आरोप लगाया है।

 

Related Articles

Back to top button
E-Paper