मुरादाबाद में गृह मंत्री अमित शाह बोले, “अखिलेश यादव के शासनकाल में हुए 700 दंगे”

अपने निर्धारित कार्यक्रम से लगभग ढाई घंटा देरी से पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुद्धि विहार स्थित मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा क‍ि मुरादाबाद में हम नुकसान में थे, यहां 15 साल तक बुआ-बबुआ का राज रहा। पीतल नगरी अपनी पहचान खो चुकी थी, हमने एक जनपद एक उत्पाद से जोड़कर पीतलनगरी को उसकी पहचान दिलाई, मैं चार दिन से यूपी में भ्रमण कर रहा हूं और यह मेरी नौंवी जसभा है। हर जगह उत्साही कार्यकर्ताओं और भाजपा से प्यार करने वाले लोगों के मुंड ही मुंड दिखाई देते हैं तो मैं लगता है कि हम फिर से आ रहे हैं। हम निश्चित रूप से चौथी बार आएंगे लेकिन भाजपा की सीटें 300 से कम नहीं होनी चाह‍िए।

24 घंटों में ओमिक्राॅन से 961 व्यक्ति संक्रमित, महाराष्ट्र में 252 और गुजरात में 97 मामले

उन्होंने कहा कि सपा के शासन में यूपी में 700 दंगे हुए थे, उन्होंने चौधरी चरण सिंह की धरती को लहूलुहान कर दिया। जहां सपा ने गोलियां चलवाई थीं, वहां मोदी जी ने मंदिर की नींव रख दी। मै अखिलेश बाबू को बताना चाहता हूं क‍ि आप कितनी भी कोशिश कर लें कुछ ही दिन में अयोध्या में गगन चुंबी मंदिर बन जाएगा।

गृह मंत्री ने कहा क‍ि अखिलेश बाबू के निजाम का मतलब है, एन से नसीमुद्दीन, आई से इमरान, ए से आजम, एम से मुख्तार। नेताओं ने कहा था क‍ि लड़कों से गलती हो जाती है। लेकिन भाजपा सरकार में किसी की हिम्मत नहीं जो बहन-बेटियों की ओर देख सके। प्रदेश को अखिलेश में लैब बना दिया। एल से लूट जो कन्नौज की दीवारों से निकल रहा है, ए से आतंकवाद आजम की इतनी दबंगई थी क‍ि गरीबों की एक हजार एकड़ जमीन हड़प ली थी। हमने गन्ना किसानों को संपन्न बनाया। किसानों को उनकी फसल की कीमत दिलाई। इथेनॉल बनाकर किसानों की तरक्की दी। पहले कितनी बिजली आती थी, कुछ घंटे। पहले सपा वाले धोखे से बिजली रानी को उठा ले गए थे, योगी जी उसे वापस ले आए। बहन जी की ठंड ही नहीं छूटी, वह घर से नहीं निकलीं। अरे चुनाव है, फिर मत कहना प्रचार नहीं कर पाए। ये बुआ, भतीजा और बहन कितना भी दम लगा लें, मेरे भाजपा कार्यकर्ता के आगे नहीं टिक पाएंगे। हमने पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक की, हमने 370 को हटाया। जल्द ही मंडल में पीएसी की नई बटालियन स्थापित हो रही है, जहां पीएसी होती है वहां दंगे नहीं होते। पिछली बार जो गलती हुई इस बार मत करना, छह की छह सीटों पर जीत दिलानी है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper