आरएएफ की 28वीं वर्षगांठ पर गृह मंत्री ने दी बधाई

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) के 28वें स्थापना दिवस पर इसके जवानों और उनके परिजनों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि आरएएफ ने कानून व्यवस्था सम्बंधित चुनौतियों से निपटने में ख्याति अर्जित की है।

शाह ने बुधवार को ट्वीट कर कहा ‘आरएएफ कर्मियों और उनके परिवारों को इस बल के स्थापना की 28वीं वर्षगांठ पर शुभकामनाएं। आरएएफ ने कानून और व्यवस्था से संबंधित चुनौतियों से निपटने में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देकर सम्मान अर्जित किया है। इसके साथ ही कई मानवीय कार्यों और संयुक्त राष्ट्र शांति अभियानों में इस बल की प्रतिबद्धता ने भारत को गौरवान्वित किया है।’

अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक अमित शाह जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद निरोधी कार्रवाई और विभिन्न राज्यों में नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में बहादुरी का प्रदर्शन करने वाले सीआरपीएफ जवानों को 20 वीरता पदक भी प्रदान करेंगे।

उल्लेखनीय है कि आरएएफ की स्थापना अक्टूबर 1992 में कई गई थी। अयोध्या में विवादित ढांचा के ध्वस्त होने के बाद देश में हुए साम्प्रदायिक दंगों के बाद एक ऐसे बल की आवश्यकता महसूस की गई, जो इस तरह के दंगों से निपटने में सक्षम और विश्वसनीय हो। उसके बाद अक्टूबर 1992 में सीआरपीएफ के 10 स्वाधीन बटालियन को परिवर्तित करके आरएएफ का गठन किया गया। इस बल को दंगों से निपटने, समाज के बीच विश्वास पैदा करने और देश की आंतरिक सुरक्षा को बरकरार रखने की जिम्मेदारी दी गई है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper