आयुर्वेद से ऐसे करें बालों की देखभाल, ये पांच तरीके खत्‍म कर देंगे हर समस्‍या

आयुर्वेद केवल जड़ी-बूटियों का खजाना ही नहीं है बल्कि भारत की इस प्राचीन विधा में खान-पान से लेकर रहन-सहन के बारे में भी बहुत कुछ बताया गया है।

आयुर्वेद

बालों से संबंधित कई समस्याओं से लोग परेशान रहते हैं तो आज हम आपको आयुर्वेद के अनुसार बालों की समस्या से निजात पाने के कुछ उपाय बताएंगे। 

बालों में तेल लगाने के फायदे

‘चम्पी’ या सिर की मालिश की प्रथा पीढ़ियों से चलती आ रही है और हम में से बहुत सारे लोग बालों को धोने से पहले सिर की मालिश करते हैं।

आखिर कितना मजबूत है आपका दिल? सीढ़ियां चढ़ने से लग जाएगा अंदाजा

माना जाता है कि बालों में तेल लगाने से, बालों को समय से पहले सफ़ेद होने से रोका जा सकता है, इससे बालों की जड़ मजबूत होती है और प्रेशर पॉइंट्स पर मालिश करने से तनाव कम होता है।

आयुर्वेद के अनुसार तेल लगाने से जुड़ी खास बातें

1. आयुर्वेद के अनुसार सिरदर्द वातरोग से जुड़ा होता है। इसलिए शाम 6 बजे बालों में तेल लगाना चाहिए। दिन का यह समय वात दूर करने के लिए बेहतर होता है।

2. आप बालों में शैंपू करने से पहले भी हफ्ते में एक या दो बार तेल लगा सकते हैं। हालांकि बालों को धोने के बाद तेल लगाने से बचना चाहिए, क्योंकि इससे बालों में धूल और मिट्टी की समस्या हो सकती है।

3. बालों में नियमित तेल लगाने से स्कैल्प में रुसी और खुजली की समस्या दूर हो जाती है। तेल में नीम की पत्तियां डालकर गर्म कर लें और नहाने से पहले इसे स्कैल्प में अच्छी तरह लगाएं। इसके बाद गुनगुने पानी से बालों को धो लें। रुसी की समस्या से पूरी तरह छुटकारा मिल जाएगा।

4. रात में सोने से पहले अपने बालों और स्कैल्प में अच्छी तरह तेल लगाना चाहिए। अगली सुबह गुनगुने पानी से बालों को धो लेना चाहिए।

5. रात में सोने से आधे घंटे पहले बालों में तेल लगाकर हल्के हाथों से मसाज करने से अच्छी नींद आती है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper