IAF का 88वां स्थापना दिवस : लड़ाकू विमानों ने दिखाए करतब

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना आज अपना 88वां स्थापना दिवस मना रही है। राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षामंत्री, गृह मंत्री और वायु सेना अध्यक्ष ने 88वें भारतीय वायुसेना दिवस के अवसर पर बधाई दी है। इस मौके पर राफेल लड़ाकू विमानों समेत अनेक विमानों ने अपने करतब दिखाए।

वायुसेना दिवस पर हिंडन एयरबेस के आसमान में राफेल लड़ाकू विमानों ने अपने करतब दिखाए। दो राफेल विमानों ने हवा में फ्लाईपास्ट किया और दहाड़ते हुए और दुश्मनों को चेतावनी देते हुए ऊंचाईयो में गोते लगाते हुए नजरों से ओझल हो गया। परमाणु हमला करने में सक्षम और कई घातक हथियारों से लैस राफेल के भारतीय वायुसेना में शामिल होने के बाद देश चीन और पाकिस्तान की नीदें उडी हुई हैं।

राफेल के साथ थ्री फॉर्मेशन में जगुआर लड़ाकू विमान ने आसमान में उड़ान भरी। राफेल के बाद देशी विमान तेजस ने भी आसमान में करतब दिखाया। इस मौके पर सेना की तीनों टुकड़ियों के प्रमुख के अलावा कई वरिष्ठ ऑफिसर भी परेड स्थल पर पहुंचे। CDS बिपिन रावत भी कार्यक्रम में मौजूद थे। वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने यहां सबसे पहले गार्ड ऑफ ऑनर का अभिवादन किया। ग्रुप कैप्टन सागर की अगुवाई में परेड की शुरुआत हुई।

उल्लेखनीय है कि भारतीय वायुसेना की स्थापना आठ अक्टूबर 1932 को हुई थी। वायुसेना आज अपना 88वां स्थापना दिवस मना रही है। इस अवसर पर वायुसेना अपने रण कौशल का प्रदर्शन कर रही है। देश के वायुसेना के बेस कैंपों में समारों का आयोजन किया गया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper