BARC का अहम फैसला : नहीं जारी करेगा चैनलों की साप्ताहिक रेटिंग

नई दिल्ली। फर्जी रेटिंग विवाद के बीच रेटिंग एजेंसी ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल ने बड़ा फैसला किया है। फर्जी रेटिंग और टीआरपी में कथित घोटाले पर जारी विवादों के बीच तीन महीनों तक के लिए साप्ताहिक रेटिंग रोक दी है। इस दौरान हिंदी, अंग्रेजी और सभी क्षेत्रीय भाषाओं के न्यूज चैनलों की साप्ताहिक रेटिंग नहीं होगी।

फर्जी रेटिंग के विवादों के बीच ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल ने अपने सिस्टम की पूरी तरह जांच करने के लिए तीन महीनों तक के लिए साप्ताहिक रेटिंग रोक दी है। एजेंसी ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा कि वह अपने सिस्टम की जांच कर रहा है। इस प्रक्रिया में 8 से 12 हफ्ते लग सकते हैं। इससे छेड़छाड़ करने की संभावित कोशिशों पर रोक लगाई जा सकेगी।

उल्लेखनीय है कि फर्जी रेटिंग विवाद में कुछ न्यूज़ चैनलों की रेटिंग से छेड़छाड़ करने और विज्ञापन के लिए फर्जी नैरेटिव तैयार करने के आरोपों में जांच हो रही है। दो टीवी चैनलों के मालिकों को गिरफ्तार भी किया गया है। इसमें एक चैनल के खिलाफ कुछ दर्शकों ने चैनल ऑन रखने के लिए पैसे दिए जाने की बात कही है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper