यूपी में 57 फीसदी व्यस्क आबादी को लग चुका है कोरोना का टीका

यूपी में 57 फीसदी व्यस्क आबादी को लग चुका है कोरोना का टीका

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में कोरोना टीकाकरण के लिये अर्ह 57 फीसदी से अधिक आबादी को वैश्विक महामारी से बचाव के लिये कम से कम एक खुराक दी जा चुकी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कोरोना प्रबंधन के लिये गठित टीम-09 की बैठक में कहा कि कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में उत्तर प्रदेश सुरक्षित है। ट्रेस, टेस्ट और ट्रीटमेंट की रणनीति से जहां संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण बना है, वहीं 10 करोड़ 39 लाख 55 हजार वैक्सीन लगाकर उत्तर प्रदेश कोविड टीकाकरण में भी देश में प्रथम स्थान पर है। सोमवार को एक दिन में 36 लाख 68 हजार 183 लोगों को टीकाकवर मिला। यह देश के किसी राज्य में एक दिन में हुआ सर्वाधिक कोविड टीकाकरण है।

     उन्होने कहा कि टीकाकवर के लिए आमजन की जागरूकता भी बढ़ी है। अब तक प्रदेश में 8 करोड़ 42 लाख 80 हजार लोगों ने टीके की पहली डोज प्राप्त कर ली है। यह टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी के 57 फीसदी से ज्यादा है। दूसरी डोज लगाने के लिए विशेष अभियान की जरूरत है। इस दिशा में नियोजित कार्यवाही की जाए। वैक्सीन की उपलब्धता बनाए रखने के लिए भारत सरकार से सतत संवाद-संपर्क बनाए रखें।

     श्री योगी ने कहा कि लगातार कोशिशों से कोरोना की दूसरी लहर पर बने प्रभावी नियंत्रण के बीच जनजीवन तेजी से सामान्य हो रहा है। आज प्रदेश के 31 जिलों अलीगढ़,अमेठी,अमरोहा,औरैया,अयोध्या,बदायूं,बागपत,बलिया,बलरामपुर, बाराबंकी,बिजनौर,चन्दौली,चित्रकूट,फतेहपुर,गाजीपुर,गोंडा,हमीरपुर,हापुड़,हरदोई,हाथरस,कानपुर देहात,कासगंज,महोबा, मीरजापुर,मुरादाबाद,मुजफ्फरनगर,रामपुर,संतकबीरनगर,शामली,श्रावस्ती और सोनभद्र में कोविड का एक भी मरीज शेष नहीं है। यह जिले आज कोविड संक्रमण से मुक्त हैं।

      उन्होने बताया कि पिछले 24 घंटे में हुई 01 लाख 74 हजार 632 सैम्पल की टेस्टिंग में 63 जिलों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया। मात्र 18 नए संक्रमित मरीज पाए गए। इसी अवधि में 14 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए। वर्तमान में प्रदेश में एक्टिव कोविड केस की संख्या 177 रह गई है, जबकि 16 लाख 86 हजार 726 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं।

     अब तक 07 करोड़ 81 लाख 42 हजार 992 सैम्पल की कोविड जांच की जा चुकी है। औसतन हर दिन ढाई लाख से अधिक टेस्ट हो रहें हैं, जबकि दैनिक पॉजिटिविटी दर 0.01 से भी कम और रिकवरी दर 98.8 फीसदी है। यह सतर्कता और सावधानी बरतने का समय है। थोड़ी सी लापरवाही संक्रमण को बढ़ाने का कारक बन सकती है।

     मुख्यमंत्री ने कहा कि 16 जिलों में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के आधार पर मेडिकल कॉलेज की स्थापना कराई जानी है। इस संबंध में शासकीय नीति तय की जा चुकी है। टेंडर जारी करने सहित अन्य औपचारिक प्रक्रिया तेजी से पूरी कर लीं जाए, ताकि मेडिकल कॉलेज निर्माण शुरू हो सके।

     डेंगू व अन्य वायरल बीमारियों से प्रभावित नए मरीजों की संख्या में अपेक्षित गिरावट आ रही है। अस्पतालों में अतिरिक्त बेड, चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाफ, दवाइयां, जांच उपकरण आदि की व्यवस्था की गई है। जरूरत के अनुसार इसमें और बढ़ोतरी की जाए। वायरल बीमारियों की रोकथाम के लिए सभी आवश्यक इंतज़ाम किए जाएं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper