भारत ने न्यूज़ीलैंड को 372 रन के साथ हराया, लगातार 14वीं घरेलू सीरीज जीती

मुंबई. ऑफ स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और जयंत यादव के चार-चार विकेटों की बदौलत भारत ने न्यूज़ीलैंड को दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के चौथे दिन सुबह के सत्र में 167 रन पर ढेर कर 372 रन से विशाल जीत हासिल की और दो मैचों की सीरीज को 1-0 से जीत लिया। भारत की यह लगातार 14 वीं घरेलू सीरीज जीत है ।

यह रनों के हिसाब से भारत की सबसे बड़ी जीत भी है। आधी टीम कल ही पवेलियन लौट गई थी, जबकि आ‍धी टीम ने आज पहले सत्र में ही घुटने टेक दिए। यह मैच एजाज पटेल के लिए याद रखा जाएगा, जिन्‍होंने पहली पारी में 10 विकेट निकालकर इतिहास के पन्‍नों में अपना नाम लिखवा लिया था। दूसरी ओर, मयंक अग्रवाल जिन्‍होंने पहली पारी में शतक और दूसरी पारी में अर्धशतक लगाया। आज चार विकेट जयंत यादव ने चटकाए। वहीं अश्विन ने पारी का आखिरी विकेट लिया, जो उनका घरेलू जमीन पर 300वां टेस्‍ट विकेट रहा।

मयंक अग्रवाल को प्लेयर ऑफ द मैच और अश्विन को प्लेयर ऑफ द सीरीज का  पुरस्कार मिला। भारत ने 2003 के बाद पहली बार आईसीसी टूर्नामेंट में न्यूज़ीलैंड को हराया है। भारत को इस जीत से टेस्ट चैंपियनशिप में 12 अंक मिले और उसने टेस्ट चैंपियनशिप के फ़ाइनल में न्यूज़ीलैंड से मिली हार का बदला चुका लिया।

चौथे दिन जब खेल की शुरुआत हुई तो भारतीय टीम को जीत के लिए पांच विकेट और न्यूज़ीलैंड को जीत के लिए 400 रन चाहिए थे। हालांकि दिन के पहले ही घंटे में जयंत यादव की  शानदार गेंदबाज़ी के कारण भारतीय टीम को अपनी जीत तक पहुंचने के लिए ज़्यादा देर तक इंतज़ार नहीं करना पड़ा।

शुरुआती कुछ ओवरों में कीवी बल्लेबाज़ों ने सकारात्मक बल्लेबाज़ी करते हुए, कुछ गेंदो को सीमा रेखा के बाहर पहुंचाया। कानपुर टेस्ट मे कीवी टीम को एक मुश्किल परिस्थिति से निकाल कर मैच ड्रॉ करवाने वाले बल्लेबाज़ रचिन रविंद्र का विकेट आज सबसे पहले गिरा। उन्हें जयंत यादव ने दूसरी  स्लिप पर कैच आउट करवा कर भारत को जीत के पथ पर बढ़ा दिया। रचिन  ने 50 गेंदों में चार चौकों के सहारे 18 रन बनाये।

इसके बाद अपने अगले ओवर में जयंत ने काइल जेमीसन को एक ऑफ़ स्पिन गेंद पर पगबाधा आउट करवाया। इसके ठीक दो गेंद बाद टिम  साउदी शॉट लगाने के लिए चहलकदमी करते हुए क्रीज़ से बाहर आए लेकिन गेंद उनके पैड पर लगने के बाद विकेट पर लगी और वह बोल्ड हो गए। इस गेंद के ठीक तीन गेंद बाद अपने अगले ओवर में शॉर्ट लेग पर समरविल को जयंत ने कैच आउट करवा दिया और अपना चौथा विकेट झटका।

इसके बाद अश्विन ने अंतिम विकेट झटक कर भारत की जीत सुनिश्चित कर दी। यह अश्विन का भारतीय पिच पर 300वां विकेट था। घरेलू पिचों पर सबसे ज़्यादा विकेट लेने के मामले में अब वह सिर्फ़ अनिल कुंबले से पीछे हैं। हेनरी निकोल्स  ने कल शाम को अश्विन के कई गेंदों को डिफेंड किया था। आज सुबह भी वह फ्रंटफुट पर लंबा स्ट्राइड लेते हुए कई गेंदों को ब्लॉक कर रहे थे। हालांकि जैसे ही उन्होंने चहलकदमी करने का प्रयास किया, अश्निन ने उन्हें फ्लाइट से बीट करते हुए स्टंप आउट करा दिया। निकोल्स ने 111 गेंदों में आठ चौकों की मदद से 44 रन बनाये।

अश्विन ने 34 रन देकर चार विकेट लिए जबकि जयंत ने  में 49 रन पर चार विकेट झटके। अगर टॉम ब्लंडल के रन आउट को छोड़ दें तो इस सीरीज़ में 36 में 33 विकेट भारतीय स्पिनर्स ने लिए। प्लेयर ऑफ द सीरीज बने अश्विन ने कुल 70 रन देकर 14 विकेट हासिल किये।

Related Articles

Back to top button
E-Paper