मीडिया के साथियों का विपक्ष की आवाज दबाना दुखद : राहुल गांधी

नयी दिल्ली. राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना कहा है कि मीडिया के कुछ लोग सिर्फ एक ही व्यक्ति का चेहरा दिखाते हैं और विपक्ष की आवाज दबाने का काम करते हैं लेकिन इन पत्रकारों के साथ अगर कभी अन्याय होगा तो वह उनकी आवाज बनकर हमेशा उनके पक्ष में खड़े रहेंगे।

राहुल गांधी ने कहा कि जो पत्रकार विपक्ष की बात दबाते हैं, सही मायने में वह जनता के मुद्दों को दबाने का काम करते हैं लेकिन जिस व्यक्ति का चेहरा वे दिखाते रहते हैं वह कभी उनकी आवाज नहीं उठाते हैं।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया “दुखद! कई मीडिया साथी सिर्फ़ एक व्यक्ति का चेहरा दिखाते हैं, विपक्ष की आवाज़ दबाते हैं- जनता तक नहीं पहुँचने देते। क्या उस व्यक्ति ने कभी आपके लिए आवाज़ उठायी। आपको जो सही लगे, करिए लेकिन आपके ख़िलाफ़ अन्याय-हिंसा होगी तो मैं पहले भी आपके साथ था, आगे भी रहूँगा।”

इसके साथ ही उन्होंने दुनियाभर के पत्रकारों की स्थिति पर नजर रखने वाली एक अमेरिकी संस्था की रिपोर्ट की क्लिपिंग पोस्ट की है जिसमें भारत को पत्रकारों के लिए सबसे खतरनाक देश बताया गया है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 2021 में भारत में चार पत्रकारों की हत्या हुई और 228 पर हमले हुए हैं।

Related Articles

Back to top button
E-Paper