झांसी: 18 साल से बंद पड़ी सहकारी समिति फिर से हुई शुरू

उत्तर प्रदेश के झांसी में 18 साल से बंद पड़ी हसारी स्थित साधन सहकारी समिति लिमिटेड को एक बार फिर से शुरू कर दिया गया है। सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक सहकारिता अनूप कुमार द्विवेदी ने शुक्रवार को बताया कि 18 वर्ष पूर्व समिति में हुए वित्तीय गबन के कारण हंसारी समिति की ऋण सीमा चोक हो गयी थी, जिसके चलते समिति बंद हो गयी थी। समिति के बंद होने से समिति से जुडे गाॅव हंसारी प्रथम, हंसारी द्वितीय, अठोदना, पठारी, रुद विलोरा, विलोरा ,मठ रमपुरा, लहरगिर्द और दुगार्पुर के किसानो को खाद बीज की उपलब्धता के साथ-साथ अपनी कृषि उपज को बेचने और खेती की जरूरतों को पूरा करने के लिए कर्ज प्राप्त करने में भी काफी समस्यायें आ रही थी। इस वजह से काश्तकारों की परेशानी को देखते हुए समिति की अनुपूरक ऋण सीमा स्वीकृत कराकर एवं नये सिरे से उवर्रक लाइसेंस जारी कराते हुए समिति में आज 22.05 मीट्रिक टन यूरिया की पहली खेप पहुंचा दी गयी है।

उन्होंने बताया कि समिति का समिति भवन जर्जर है, जिसकी वजह से फिलहाल किराये के भवन से काम हो रहा है। नये समिति भवन के निमार्ण के लिए एकीकृत सहकारी विकास परियोजना के अन्तगर्त 16.00 लाख रुपयें स्वीकृत किये गये है, जिसमें 5.00 लाख रुपयें की पहली किस्त शुक्रवार को ही जारी कर दी गयी है। दो से तीन महीने के अन्दर नये समिति भवन का निमार्ण हो जायेगा एवं समिति अपने स्वयं के गोदाम से अपना कार्य संचालित करेगी।

सहायक आयुक्त एवं सहायक निबन्धक सहकारिता ने बताया कि वतर्मान रबी अभियान में हंसारी एवं तालौड़ समिति सक्रिय किये जाने के बाद जिले में निबन्धित सभी 58 समितियां सक्रिय हो गयी है, समितियों से वतर्मान वित्तीय वर्ष में 130 करोड़ का ऋण वितरण,19000 मीट्रिक टन डीएपी वितरण ,17000 मीट्रिक टन यूरिया वितरण एवं 60000 मीट्रिक टन गेंहू की खरीद की गयी है। उवर्रक वितरण एवं गेहूॅ खरीद जैसी शासन की शीर्ष प्राथमिकता वाले कायर्क्रमों का सफल क्रियान्वयन पूरी तरह से सहकारी समितियों पर आश्रित है, इसके अतिरिक्त समितियों से लगभग 14000 सदस्य 130 करोड़ का अल्पकालीन फसली ऋण भी प्राप्त करेगे, अतः जिले में निबन्धित सभी समितियों के सक्रिय होने से सभी योजनाओं के सफल क्रियान्वयन में सहायता प्राप्त होगी।

समिति से उवर्रक वितरण के शुभारम्भ पर लखनलाल पटेल ग्राम हंसारी, मोहन सिंह ग्राम हंसारी, बृजमोहन ग्राम हंसारी, कप्तान सिंह सरवा एवं वीर सिंह ग्राम हंसारी इत्यादि कृषक उपस्थित रहे एवं समिति के पुनः चालू होने पर सभी किसानो ने प्रसन्नता व्यक्त की। इस अवसर पर सहायक विकास अधिकारी सहकारिता आशुतोष शर्मा, अपर जिला सहकारी अधिकारी सहकारिता शिव नारायण खरे, समिति अध्यक्ष रामवती राय , संचालक नरेन्द्र राय एवं समिति सचिव अश्वनी कुमार तिवारी भी उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper