जितिन प्रसाद ने छात्रों को किया सम्मानित कहा, शिक्षा का उद्देश्य है रोजगार पाना

प्रदेश प्राविधिक शिक्षा मंत्री जितिन प्रसाद ने कहा कि, सरकार द्वारा दिया गया प्राविधिक शिक्षा विभाग का दायित्व मेरे लिए सौभाग्य का विषय है। देश का भविष्य हमारी आज की युवा पीढ़ी पर है, जो जितना शिक्षित व प्रशिक्षित होगा, हमारा राष्ट्र उन्नति के पथ पर उतना ही आगे बढ़ेगा। शिक्षा का उद्देश्य मात्र साक्षरता नहीं, बल्कि रोज़गार के अवसर भी प्रदान करना है।

जितिन प्रसाद

प्रशस्ति पत्र हुए वितरण

यह बातें प्राविधिक शिक्षा विभाग मंत्री जितिन प्रसाद ने शनिवार को राजकीय पॉलीटेक्निक में आयोजित तकनीकी छात्र व छात्राओं के साथ शैक्षिक संवाद एवं उत्कृष्ट छात्र व छात्राओं को प्रशस्ति पत्र वितरण कार्यक्रम में कहीं। उन्होंने मुख्य रूप से वर्तमान में तकनीकी शिक्षा अर्जित कर रहे पालीटेक्निक छात्र-छात्राओं के साथ सीधा संवाद स्थापित किया। इसमें छात्र-छात्राओं द्वारा बालिका शिक्षा को प्रोत्साहित करने, ग्रामीण अंचलों से आए हिंदी भाषी छात्र व छात्राओं हेतु प्रतिस्पर्धाओं का सामना करने की तैयारी, विद्यार्थी जीवन से ही चल रहे रोज़गार की चिन्ता, प्लेसमेण्ट एवं अन्य विभिन्न विषयों पर प्रश्नों के माध्यम से अपने वर्तमान एवं भविष्य को लेकर वृहद् परिचर्चा की।

Breaking : जेल भेजा गया आशीष मिश्रा, सोमवार को होगी मामले की सुनवाई

ये भी रहे मौजूद

कार्यक्रम में प्राविधिक शिक्षा विभाग के निदेशक, मनोज कुमार, द्वारा तकनीकी शिक्षा की महत्ता एवं भावी युवा पीढ़ी के उज्ज्वल भविष्य हेतु इसकी सार्थकता पर विशेष प्रकाश डाला एवं प्राविधिक शिक्षा विभाग के विजन डाक्यूमेंट पर एक विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत की गयी। स्वागत भाषण सुनील कुमार चौधरी, विशेष सचिव, प्राविधिक शिक्षा, उप्र शासन द्वारा प्रस्तुत किया गया एवं संस्था प्रधानाचार्य प्रमोद कुमार द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि, विशेष अतिथि, प्राविधिक शिक्षा विभाग के समस्त अधिकारीगण, समस्त मीडिया बन्धुओं सहित कार्यक्रम में उपस्थित सभी गणमान्य व्यक्तियों को धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

छात्रों को किया प्रेरित

इस अवसर पर जितिन प्रसाद ने भविष्य में प्राविधिक शिक्षा के बहुआयामी उन्नयन हेतु अपने मिशन के तौर पर संचालित कर प्रदेश की युवा पीढ़ी को तकनीकी शिक्षा से जोड़कर उनके कौशल को सुविकसित एवं सुसज्जित कर उन्हें राष्ट्र निर्माण में अपनी सार्थक भूमिका निभाने हेतु प्रेरित किया गया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper