कानपुर हिंसा : आरोपियों पर लगा रासुका, तीन गिरफ्तार, छापेमारी जारी

लखनऊ। कानपूर में मामूली विवाद को लेकर उपद्रववियों द्वारा की गई हिंसा गहरी साजिश थी। कट्टरपंथियों का इरादा कानपुर समेत पूरे प्रदेश को सांप्रदायिक दंगों की आग में झोंकने का था। योगी सरकार ने तत्‍काल कार्रवाई कर उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया।

कानपुर के वाजिदपुर में बीती रात मामूली विवाद में कट्टरपंथियों के हमले में एक युवक की मौत हो गई। सीएम योगी ने इस मामले में त्वरित और सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया। आरोपियों के खिलाफ रसुका के तहत मुकदमा दर्ज किया है। हत्‍या और मारपीट में शामिल तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

सीएम के निर्देश पर सक्रिय हुई पुलिस कई संदिग्‍धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। छापेमारी की कार्रवाई भी जारी है। सीएम योगी ने पीड़ित परिवार को तत्‍काल पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने के निर्देश दिया।

उल्लेखनीय है कि रविवार की रात मामूली विवाद में हिंसा पर उतारू कट्टरपंथियों की भीड़ ने युवक पिंटू पर हमला कर दिया। पिंटू को अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई। इस मामले में पुलिस ने सरफराज आलम पुत्र जाहिद हुसैन,मोहसिन पुत्र अब्दुल कलाम,मेराज पुत्र अनवर आलम को गिरफ्तार किया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper