महाशिवरात्रि और फाल्गुन मास की अमावस्या पर्व पर रखें चौकस इंतजाम : डीएम

महाशिवरात्रि

चित्रकूट। जिलाधिकारी शुभ्रांत कुमार शुक्ला की अध्यक्षता में महाशिवरात्रि पर्व तथा फाल्गुन मास की अमावस्या पर्व को सकुशल संपन्न कराए जाने के संबंध में संबंधित अधिकारियों व साधु-संतों के साथ एक बैठक का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में किया गया। 

शनिवार को जिलाधिकारी ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि मेला क्षेत्र में जिन जिन विभागों द्वारा जो कार्य कराए जाते हैं उसे मेला के पूर्व ही करा लें। ताकि मेला के दौरान कोई समस्या न हो। उन्होंने मठ मंदिरों के संत महंतों से कहा कि हम आप लोग जो मेला की व्यवस्था में समस्या होगी तो उसका निस्तारण कराएंगे और अमावस्या मेला को भव्य तरीके से संपन्न कराया जाएगा।

उन्होंने जोनल/ सेक्टर मजिस्ट्रेट तथा पुलिस अधिकारियों से कहा कि आपस में समन्वय स्थापित करके मेला को सकुशल संपन्न करें। नगर पालिका परिषद को निर्देश दिए कि प्रकाश व्यवस्था साफ सफाई व्यवस्था अभियान चलाकर कराया जाए। परिक्रमा मार्ग की  साफ सफाई अच्छी तरीके से कराई जाए। महाशिवरात्रि के दिन शोभा यात्रा के दौरान मार्गों की साफ सफाई व्यवस्था तथा ट्रैफिक व्यवस्था के साथ पुलिस बल तैनात किया जाए तथा शोभायात्रा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अवश्य कराया जाए।

अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिए कि विद्युत तार पोल को ठीक कराएं तथा जो अंडरग्राउंड केबल का कार्य चल रहा है उसको तत्काल पूर्ण करा लिया जाए। मेला के दौरान जिन कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाए। उसकी सूची भी मेला कंट्रोल रूम में उपलब्ध कराएं तथा महाशिवरात्रि को देखते हुए सभी जगह विद्युत निर्बाध रूप से जारी रहे,यह भी सुनिश्चित कर लें। अधिशासी अभियंता सिंचाई से कहा कि रामघाट में मां मंदाकिनी गंगा में गोताखोर नाव साफ सफाई बैरिकेडिंग आदि की व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।

उन्होंने कहा कि भरतकूप मंदिर तथा जहां पर शिव मंदिरों में महाशिवरात्रि के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं वहां पर साफ-सफाई सुरक्षा व प्रकाश व्यवस्था कराई जाए। खाद्य सुरक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि खाद्य सामग्री पर लगातार निगरानी रखते हुए नमूने आदि भरवा कर कार्यवाही कराएं।

अपर जिलाधिकारी से कहा कि मध्यप्रदेश के अधिकारियों के साथ भी वार्ता करके समन्वय स्थापित करते हुए मेला व्यवस्था को दुरुस्त कराएं। खोया पाया केंद्र व सेंटर एड्रेस सिस्टम भी लगाया जाए। जिला पंचायत राज अधिकारी संजय कुमार पांडेय तथा नगरपालिका के अधिकारियों को निर्देश दिया कि अपनी टीम लगाकर अन्ना पशुओं के विचरण पर रोक लगाएं। इसके अलावा जो लोग अपने निजी गोवंश छोड़ते हैं उनको चिन्हित करके नोटिस दिया जाए। अभियान चलाकर पॉलीथिन पर रोक लगाएं तथा राम घाट के अंदर निर्मोही अखाड़ा के पास से वाहनो के प्रवेश पर रोक लगाए।

यूपी: कासगंज में बर्खास्त 65 शिक्षक जाएंगे सुप्रीम कोर्ट, जानें क्या है मामला

दिगंबर अखाड़ा रामघाट महंत दिव्यजीवन दास ने कहा कि महाशिवरात्रि के दिन रामघाट पर सभी व्यवस्थाएं करा दिया जाए। इस पर जिलाधिकारी ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि महाशिवरात्रि तथा मेला के दौरान सभी व्यवस्थाएं राम घाट पर कराई जाए।उन्होंने कहा कि जिन अधिकारियों कर्मचारियों की ड्यूटी मेला व्यवस्था में लगाई गई है वह अपने तैनाती स्थल पर रहकर अपने कार्यों को करें ताकि मेला को सकुशल संपन्न कराया जा सके।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, अपर जिलाधिकारी जी पी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र कुमार राय, अपर उप जिलाधिकारी राजबहादुर, उपजिलाधिकारी कर्वी राम प्रकाश, पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर शीतला प्रसाद पांडेय सहित संबंधित अधिकारी तथा मठ-मंदिरों के साधु संत मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper