यूपी: उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य ने किया फिल्म विकास परिषद कार्यालय का उद्घाटन

लखनऊ प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि उप्र में नोएडा स्थित फिल्म सिटी के निर्मित होने से उत्तर प्रदेश के कलाकारों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। फिल्म उद्योग में उत्तर प्रदेश का एक महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

प्रदेश के कलाकार उत्तर प्रदेश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में प्रदेश का नाम रौशन कर रहे हैं। वर्तमान सरकार का प्रयास है कि प्रतिभाओं का पलायन न हो और अधिक से अधिक रोजगार के अवसर सृजित हों। नई प्रस्तावित फिल्म सिटी के अनुसार वर्तमान सरकार कार्य कर रही है। फिल्म विकास परिषद का यह कार्यालय उत्तर प्रदेश को मुम्बई से बड़ी फिल्म सिटी देने जा रहा है।

उपमुख्यमंत्री केशव  मौर्य रविवार को पं. दीनदयाल उपाध्याय, सूचना परिसर भवन के छठवें तल पर स्थित फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष के कार्यालय कक्ष के उद्घाटन करने के मौके पर बोल रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष राजू श्रीवास्तव को बधाई देते हुए कहा कि फिल्म विकास परिषद का कार्यालय बन जाने से कलाकारों को हर प्रकार की जानकारी प्राप्त हो सकेगी और फिल्मों आदि में रुचि रखने वाले कलाकारों को अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित करने का अवसर मिलेगा।

इस अवसर पर विधि एवं न्याय मंत्री, बृजेश पाठक ने फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष राजू श्रीवास्तव को बधाई दी और कहा कि फिल्म विकास परिषद के कार्यालय बन जाने से प्रदेश में कार्य करने वाले कलाकारों को सुगमता से कार्य करने का अवसर मिलेगा। उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष  राजू श्रीवास्तव ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए बताया कि हर प्रकार से नये-नये रोजगार के अवसर सृजित करना वर्तमान सरकार की प्राथमिकता है। इसी के तहत प्रदेश में एक भव्य फिल्म सिटी का निर्माण कराया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि फिल्म निर्माता एवं निर्देशकों को उत्तर प्रदेश में फिल्म उद्योग से सम्बन्धित कार्यों के लिए आकर्षित करने तथा हर प्रकार की सुविधाएं वर्तमान सरकार द्वारा देने का प्रयास किया जायेगा।

राजू श्रीवास्तव ने यह भी कहा कि प्रदेश में पर्यटन की असीम संभावनाएं हैं और सबसे बड़ा प्रदेश होने के नाते यहां पर ऐतिहासिक एवं दर्शनीय स्थल होने के कारण शूटिंग में निर्माता, निर्देशकों को सुगमता होगी। उन्होंने बताया कि फिल्म विकास परिषद प्रदेश के अद्भुत, मनोहारी तथा रमणीय पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी देगा, जिससे बड़ी संख्या में पर्यटक आकर्षित होंगे। साथ ही फिल्म उद्योग के माध्यम से अतिरिक्त पूंजी निवेश आकर्षित होगी तथा देश व प्रदेश की जनता को स्वस्थ व अपेक्षाकृत सस्ता मनोरंजन उपलब्ध होगा।

Related Articles

Back to top button
E-Paper