जाने साल के अंतिम चंद्रग्रहण की तारीख, इस राशि पर पड़ेगा ज्यादा असर

चन्द्रमा पर जब पृथ्वी की छाया पड़ती है तो उसे कहते हैं चंद्रग्रहण। ग्रहण के दौरान सभी जइब जन्तुओं और मन्युष्यों पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। 19 नवम्बर 2021 के दिन शुक्रवार को साल का दूसरा व् अंतिम चन्द्रग्रहण लगने जा रहा है। यह आंशिक चंद्रग्रहण भारत के असम और अरुणाचल प्रदेश के अलावा प्रशांत महासागर, ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी यूरोप, पूर्वी एशिया और अमेरिका क्षेत्र में इस चंद्र ग्रहण को देखा जा सकेगा। शुक्रवार के दिन सुबह 11:34 मिनट पर ही चंद्रग्रहण शुरू हो जाएगा। जो कि 5:33 मिनट पर खत्म होगा।

बरतनी होगी सावधानी

इसका सबसे ज्यादा असर वृषभ राशि वालों पर पड़ेगा। क्योंकि यह चंद्रग्रहण वृष राशी और कृतिका नक्षत्र में लगेगा। इस दौरान वृषभ राशि वालों को बेहद सावधानी बरतनी होगी। जैसे की किसी तरह का बहस करने से बचे या पैसे खर्च करने से बचें क्योंकि इस दौरान आर्थिक नुक्सान की विशेष संभावना है। इतना ही इस दिन वृषभ राशि वालों को यात्रा भी टालनी चाहिए। भगवान शिव की आराधना करें।

इन बातों का रखें ध्यान

चंद्र ग्रहण के दौरान कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना होगा, जैसे सूत काल में पूजा पाठ करने, खाना बनाने से बचने होगा। इस दौरान भगवान का ध्यान करें और ग्रहण खत्म होने के बाद स्नान करें। अगर आप ग्रहण के दौरग शिव की आराधना करते हैं तो आपको इससे विशेष लाम मिलेगा।

करवा चौथ व्रत इस बार है बेहद खास, एक साथ बनेगा पांच योगों का संयोग

ऐसी मान्यता है कि चंद्र को ग्रहण राहु-केतु के कारण लगता है। इसलिए चंद्र ग्रहण के दौरान राहु-केतु से संबंधित मंत्रों का उच्चारण कर सकते हैं। इसके अलावा ग्रहण के दौरान हनुमान चालीसा, दुर्गा चालीसा, विष्ण सहस्त्रनाम, श्रीमदभागवत गीता आदि का पाठ करना चाहिए।

Related Articles

Back to top button
E-Paper