जानिए कोरोना वैक्सीन को लेकर क्या कहते हैं एम्स के डायरेक्टर?

कोरोना वैक्सीन

एम्स के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने कोरोना वायरस और वैक्सीन से जुड़े सभी सवालों के जवाब इंडिया टुडे ग्रुप के एक हेल्थगीरी अवॉर्ड्स कार्यक्रम का आयोजन में दिए । आइये जानते है कि कोरोना के संदर्भ में डॉ गुलेरिया ने क्या कहा-

डॉक्टर गुलेरिया के अनुसार वैक्सीन का लॉन्ग टर्म ट्रायल नहीं किया जा रहा है।  डॉक्टर गुलेरिया ने कहा, ‘हम जब भी कोई वैक्सीन बनाते हैं तो उसका एनिमल ट्रायल करते हैं और उसका लंबे समय तक फॉलोअप करते हैं लेकिन समय बचाने के लिए कोरोना वायरस वैक्सीन के दूसरे और तीसरे चरण का ट्रायल एक साथ किया जा रहा है।  इसमें ये सारी चीजें देखी जाती हैं कि वैक्सीन का लॉन्ग टर्म साइड इफेक्ट क्या हो सकता है।  वैक्सीन आने के बाद जिन लोगों को ये दी जाएगी, उनकी भी क्लोज मॉनीटरिंग की जाएगी कि कहीं उन पर कोई साइड इफेक्ट तो नहीं हो रहा है।

डॉक्टर गुलेरिया ने ये भी कहा कि वैक्सीन देने की प्रक्रिया में कई बातों का ध्यान रखा जाएगा। जैसे कि अगर किसी को पहले से कोई बीमारी है तो वैक्सीन लगाने के बाद उन पर इसका कैसा असर होगा, बुजुर्गों को इस वैक्सीन से कितनी इम्यूनिटी मिलेगी और उनके लिए वैक्सीन कितनी सुरक्षित है, इन सभी डेटा को इकट्ठा करने की कोशिश की जाएगी। उन्होंने कहा कि इन सभी चीजों पर भी स्पष्टता जरूरी है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper