कोरोना महामारी से आखिरी जंग को तैयार पश्चिम बंगाल, जिलों में पहुंचाया गया टीका

कोरोना महामारी

कोलकाता: टीकाकरण के जरिए कोरोना महामारी के खिलाफ आखिरी जंग के लिए पश्चिम बंगाल तैयार है। मंगलवार दोपहर पुणे के सिरम इंस्टीट्यूट से विशेष विमान से लाया गया कोविड विरोधी वैक्सीन कोलकाता के बागबाजार सेंट्रल मेडिकल स्टोर से राज्य के अन्य जिलों में पहुंचा दी गई है।

मप्र में फिर शुरू होगी भामाशाह योजना, ईमानदार करदाता होंगे पुरस्कृतः शिवराज

राज्य स्वास्थ विभाग के सूत्रों ने बताया है कि मंगलवार रात तक हावड़ा, हुगली, उत्तर और दक्षिण 24 परगना में विशेष वातानुकूलित ट्रकों के जरिए चिकित्सकों की देखरेख में वैक्सीन को पहुंचाया गया है। इसके अलावा पूर्व व पश्चिम मेदिनीपुर, बांकुड़ा, पुरुलिया, झाड़ग्राम के साथ-साथ उत्तर बंगाल के लिए वैक्सीन को रवाना किया गया है।

आगामी शनिवार यानी 16 जनवरी से पूरे देश के साथ पश्चिम बंगाल में कोरोना महामारी के खिलाफ टीकाकरण की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। पूरे राज्य में छह लाख स्वास्थ्यकर्मी हैं जिन्हें पहले चरण में टीकाकरण किया जाना है। केंद्र सरकार ने वैक्सीन लेने वालों का डेटाबेस मॉनिटरिंग के लिए “कोविन” नाम का मोबाइल ऐप बनाया है जिसपर सभी को पंजीकृत करना है। सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों का पंजीकरण इस मोबाइल एप्लीकेशन पर हुआ है। बंगाल के छह लाख स्वास्थ्यकर्मियों समेत पूरे देश में तीन करोड़ हेल्थ वर्कर्स पहले चरण में टीकाकरण से लाभान्वित होंगे। प्रत्येक टीकाकरण केंद्र पर एकदिन में 100 लोगों को टीका लगाया जाएगा। पश्चिम बंगाल में पूरी प्रक्रिया की निगरानी खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी करेंगी।

उत्तर 24 परगना में 47 हजार स्वास्थ्यकर्मी

कोलकाता की तरह उत्तर 24 परगना में 47000 स्वास्थ्य कर्मियों का नाम इस मोबाइल एप्लीकेशन पर निबंधित किया गया है। जिले में 20 स्वास्थ्य केंद्र तैयार किए गए हैं जहां इन स्वास्थ्य कर्मियों का परिचय पत्र देखकर टीकाकरण किया जाएगा। प्रत्येक केंद्र पर 100 लोगों को एक दिन में टीका लगेगा। यानी पहले दिन शनिवार को जिले में 2000 स्वास्थ्य कर्मी टीकाकरण का लाभ उठाएंगे। जिले के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी तापस कुमार रॉय ने कहा कि टीकाकरण की पूरी तैयारी कर ली गई है। शनिवार से पूरी प्रक्रिया का पालन करते हुए टीकाकरण होगा। बारासात में उप मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी के दो नंबर कार्यालय को कूलिंग सेंटर के तौर पर तब्दील किया गया है जहां टीके को संरक्षित कर रखा गया है। यहां से जिले के उन सभी 20 स्वास्थ्य केंद्रों पर शनिवार से पहले टीके को पहुंचा दिया जाएगा जहां टीकाकरण होना है।

पश्चिम मेदिनीपुर में 49000 वैक्सीन

इसी तरह से पश्चिम मेदिनीपुर में 49000 वैक्सीन पहुंचाया जा रहा है। यहां करीब 24 हजार स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जाना है। हुगली जिले में भी वैक्सीन की 32 हजार खेप पहुंचाई गई है। यहां भी 20 स्वास्थ्य केंद्रों पर वैक्सीनेशन की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। चुचुड़ा के राजकीय स्वास्थ्य केंद्र में वैक्सीन को कूलिंग प्रोसेस के जरिए स्टोर किया गया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper