कोरोना मरीजों के लिए देवदूत बनी कोलकाता पुलिस, ऐसे बचाई 100 से ज्यादा जान

कोरोना मरीजों

कोलकाता: जानलेवा वायरस कोरोना से संक्रमित  मरीजों के लिए कोलकाता पुलिस के जवान देवदूत बन गए। पूरे संक्रमण काल के दौरान 100 से ज्यादा लोगों की जान बचाई। कोलकाता पुलिस ने प्लाज्मा दान कर 102 से अधिक लोगों की जान कोलकाता पुलिस के कर्मियों और अधिकारियों ने बचाई है। 

कोयला तस्करी: अभिषेक बनर्जी की बढ़ी मुश्किलें, सीबीआई ने कसा शिकंजा

लाल बाजार स्थित कोलकाता पुलिस मुख्यालय की ओर से मिली जानकारी में  बताया गया है कि ऐसे कई पुलिसकर्मी थे जो महामारी की चपेट में आए थे और स्वस्थ हो गए हैं। उन कर्मियों ने अपना प्लाज्मा दान किया ताकि महामारी की वजह से मौत से जंग लड़ रहे लोगों के शरीर में प्लाज्मा देकर उनकी जान बचाई जा सके। कोरोना मरीजों

पुलिस मुख्यालय की ओर से बताया गया है कि कोलकाता पुलिस के 3350 कर्मी इस महामारी की चपेट में आए थे। इनमें से अधिकतर स्वस्थ हो गए हैं जिनके शरीर में अपने आप एंटीबॉडी तैयार हुआ है। इसलिए कोलकाता पुलिस के स्वस्थ होने वाले कर्मचारियों ने स्वेच्छा से अपना प्लाज्मा दान किया और पूरे संक्रमण काल के दौरान 102 लोगों की जान बचाई। लाल बाजार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि पुलिसकर्मी प्लाज्मा दान के लिए हमेशा तैयार हैं। कोविड-19 से पीड़ित मरीजों के परिजन अगर आवेदन करें तो  पुलिसकर्मी उनकी मदद जरूर करेंगे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper