Lakhimpur Kheri Case: मंत्री के इस्तीफ़े की मांग लेकर धरने पर बैठी कांग्रेस

लखनऊ। लखीमपुर(Lakhimpur Kheri) हिंसा मामले में किसानो काे न्याय दिलाने और केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी की मांग को लेकर कांग्रेस ने यहां विधानसभा की कार्यवाही का बहिष्कार कर धरना दिया।

Lakhimpur Kheri

किसानों को जल्द मिले न्याय

सोमवार को विधानसभा के विशेष सत्र में भाग लेने के बजाय कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और पार्टी विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना समेत अन्य सदस्य धरने पर बैठ गये। उनके हाथों में तख्तियां थी कि केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी तक लड़ाई जारी रहेगी, किसानो को न्याय कब मिलेगा और केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी कब तक होगी।

Farmer Protest in Lucknow: किसान रेल रोको आन्दोलन में उपद्रव करने पर होगी रासुका के तहत कार्यवाही

आखिर अपने पद पर कैसे टिके हैं मंत्री

लल्लू ने कहा कि उनकी पार्टी के सदस्यों ने सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने के बजाय लखीमपुर(Lakhimpur Kheri) के किसानो को न्याय दिलाने के लिये धरने पर बैठना उचित समझा है। सरकार किसानो की उपेक्षा कर रही है। केन्द्रीय मंत्री का पुत्र जेल में है तो ऐसे में उनका पद पर बने रहना कितना न्याय संगत है। श्री मिश्र के पद में रहते किसानो को न्याय मिलना असंभव है।

नूरा कुश्ती खेल रही है सपा और भाजपा

उन्होने कहा कि सदन और सड़क में भाजपा और समाजवादी पार्टी (सपा) के बीच नूरा कुश्ती का खेल चल रहा है मगर उनकी पार्टी महंगाई से कराहती जनता, किसानो की बदहाली और बेरोजगारी का दंश झेल रहे युवा वर्ग की लड़ाई को पूरी ताकत से लड़ेगी। गौरतलब है कि योगी सरकार ने आज विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है जिसमें उपाध्यक्ष पद का निर्वाचन सम्पन्न होगा। करीब 37 साल बाद हो रहे इस चुनाव में सपा के नरेन्द्र वर्मा और भाजपा समर्थित नितिन अग्रवाल के बीच मुकाबला है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper