पंचतत्व में विलीन हुआ शहीद अनिल का पार्थिव शरीर, उमड़ा जनसैलाब

गन्ना मंत्री ने परिवार को सौंपा 50 लाख का चेक

मेरठ: कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सेना के ऑपरेशन में शहीद मेरठ निवासी हवलदार अनिल तोमर का पार्थिव शरीर मंगलवार देर रात पैतृक गांव सिसौली पहुंचा। शहीद की अंतिम यात्रा में गन्ना मंत्री सुरेश राणा, सांसद राजेंद्र अग्रवाल मौजूद रहे। अंतिम सलामी के बाद शहीद के भाई व पुत्र ने मुखाग्नि दी।

लखनऊ: पूर्व प्रधान के दो हत्यारे मुठभेड़ में गिरफ्तार, हथियार बरामद

मौसम खराब होने के कारण श्रीनगर से सेना का हवाई जहाज देरी से उड़ान भर पाया। इस कारण शहीद के पार्थिव शरीर को मेरठ पहुंचने में रात हो गई। सेना के वाहन में जैसे ही पार्थिव देह सिसौली पहुंची तो भारत माता की जय और शहीद अनिल तोमर अमर रहें के नारे लगने लगे।

सेना की राजपूत रेजिमेंट की 21वीं बटालियन ने शहीद को सलामी दी। मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के रूप में गन्ना मंत्री सुरेश राणा अंतिम यात्रा में शामिल हुए। मेरठ के सांसद राजेंद्र अग्रवाल, किठौर विधायक सत्यवीर त्यागी, सेना के अधिकारियों ने पुष्पगुच्छ चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। देर रात ही गांव के बाहर एक प्लाॅट में शहीद के भाई सुनील तोमर और पुत्र लक्ष्य ने मुखाग्नि दी।

इससे पहले गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा दी गई 50 लाख रुपए की आर्थिक सहायता का चेक शहीद परिवार को सौंपा। इनमें से 35 लाख रुपए शहीद की पत्नी के खाते में और 15 लाख रुपए उनके माता-पिता के खाते में ट्रांसफर किए गए।

सेना की राजपूत रेजिमेंट की 21वीं बटालियन ने शहीद को सलामी दी। मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि के रूप में गन्ना मंत्री सुरेश राणा अंतिम यात्रा में शामिल हुए। मेरठ के सांसद राजेंद्र अग्रवाल, किठौर विधायक सत्यवीर त्यागी, सेना के अधिकारियों ने पुष्पगुच्छ चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। देर रात ही गांव के बाहर एक प्लाॅट में शहीद के भाई सुनील तोमर और पुत्र लक्ष्य ने मुखाग्नि दी।

Related Articles

Back to top button
E-Paper