आंध्र सीएम का बड़ा आरोप, सरकार गिराने में लगे एससी के जज, सीजेआई को लिखा पत्र

हैदराबाद। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने सुप्रीम कोर्ट के दूसरे वरिष्ठ जज पर गंभीर आरोप लगाए हैं। रेड्डी ने मुख्य न्यायाधीश ( सीजेआई ) जस्टिस शरद अरविन्द बोबडे को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि सुप्रीम कोर्ट में नबंर दो जज एनवी रमन्ना पूर्व सीएम चंद्रबाबू संग मिलकर उनकी सरकार गिराने की कोशिशें कर रहे हैं। इसमें सम्मनित जजों के कुछ रोस्टर भी शामिल हैं।

सीएम ने सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एनवी रमन्ना पर सीजेआई जस्टिस बोबडे को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि जस्टिस रमन्ना की पुत्रियां जमीन की खरीद-फरोख्त में शामिल रहीं और उन्होंने पूर्व सीएम चंद्रबाबू नायडू से जुड़े मामलों में सुनवाई प्रभावित की है। जानकारी के मुताबिक़ सीजेआई को यह पत्र गत छह अक्टूबर को लिखा गया था। सीएम के प्रमुख सलाहकार अजेय कल्लम ने शनिवार को इस पत्र को हैदराबाद में मीडिया के सामने रिलीज किया।

इस पत्र में उन मौकों का भी उल्लेख किया गया है, जब टीडीपी से जुड़े मामलों को कुछ सम्मानीय जजों की सौंपा गया। पत्र में कहा गया है कि मई 2019 में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के सत्ता में आने के बाद से नायडू सरकार द्वारा जून 2014 से मई 2019 के बीच की गई सभी तरह की डीलों की जांच के आदेश दिए गए हैं। तभी से जस्टिस एनवी रमना राज्य में न्याय प्रशासन को प्रभावित करने में जुटे हैं। सीएम ने कहा कि जस्टिस रमन्ना हमारी सरकार को गिराने में नायडू का साथ दे रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि देश में पहली बार किसी राज्य के मुख्यमंत्री ने सुप्रीम कोर्ट के जज के खिलाफ सीजेआई से शिकायत की है, जिसमें न्यायिक व्यवस्था को प्रभावित करने का आरोप लगाया गया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper