साहित्यकार जगदीश पीयूष का निधन, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के थे प्रतिनिधि

अमेठी अमेठी में इंदिरा गांधी, संजय गांधी के दौर के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता, साहित्यकार एवं वरिष्ठ पत्रकार जगदीश पीयूष का शुक्रवार रात में निधन हो गया। उन्होंने अमेठी के मुंशीगंज स्थित संजय गांधी हास्पिटल में अंतिम सांस ली।

जगदीश पीयूष

उनके पुत्र अनूप के अनुसार उनके पिता लगभग 12-13 दिन तक लखनऊ स्थित मेदान्ता अस्पताल में भर्ती रहे। वहां के चिकित्सकों की सलाह पर उन्हें 04 फरवरी को मुंशीगंज स्थित संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी स्थिति लगभग स्थिर बनी रही। लेकिन 05 फरवरी को रात 10 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

कभी चाय के कप धोता था ये लड़का, अब इस तरह से लाखों रुपए की करता है कमाई

मशहूर गीतकार मनोज मुंतशिर ने उनके निधन पर शोक जताते हुए कहा कि वे मेरे पिता तुल्य थे। मेरे बचपन के कई पन्ने एक साथ मिट गए। वह मार्गदर्शक चला गया, जिसने पहली बार कवि सम्मेलन में मुझे 300 रुपये की फीस दिलवाई थी। मैंने क्या खो दिया, ये सिर्फ मेरा दिल जानता है।

उल्लेखनीय है कि जगदीश पीयूष (71) गांधी परिवार के अत्यंत करीबी नेताओं में एक थे। उनका जन्म अमेठी जिले के संग्रामपुर ब्लाक के कसारा गांव मे 27 जुलाई 1950 को किसान परिवार में हुआ था। वे पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी के मीडिया प्रभारी भी रहे और 1984 में ‘अमेठी का डंका बिटिया प्रियंका’ का नारा भी उन्होंने दिया था। कांग्रेस में उन्होंने संजय गांधी के साथ शिरकत की और उनकी सभी राजनैतिक गतिविधियों में सम्मिलित रहे। इसके अलावा अनेक अखबारों एवं पत्रिकाओं की सुर्खियों में भी वे छाये रहे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper