लखनऊ: हनी-ट्रैप में फंसाकर ब्लैकमेलिग करने वाले गिरोह का पुलिस ने किया भांडाफोड़

लखनऊ पुलिस ने हनीट्रैप में फंसकर फिरौती के लिए एक डॉक्टर को अगवा और ब्लैकमेल करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है।

एक डेंटिस्ट इस गिरोह के जाल में फंस गया था जिसने उससे पैसे उगाहने की कोशिश की और जान से मारने की धमकी भी दी। उन्नाव के रहने वाले सचिन राव (20) और दिल्ली की निशू (19) को गिरफ्तार किया गया है लेकिन आदिल, बलराम वर्मा, प्रवेश जायसवाल, नजर अब्बास और सना समेत गिरोह के अन्य सदस्य फरार हैं।

डॉक्टर को सुशांत गोल्फ सिटी के एक फ्लैट में मेडिकल विजिट पर बुलाया गया जहां उन्हें बहला-फुसलाकर सना के साथ छेड़छाड़ की स्थिति में फिल्माया गया, जिसने उन्हें ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया। एटीएम पिन बताने से ना करने पर डॉक्टर को फ्लैट में बंधक बना लिया गया और पीटा गया।

एडीसीपी (पूर्व) एसएम कासिम आबिदी ने कहा, “आरोपी ने उनसे (डॉक्टर) फिरौती के रूप में 30 लाख रुपये की मांग की, क्लिप को वायरल करने की धमकी दी। उन लोगों ने पुलिस की मदद मांगने पर पीड़ित के बच्चों को मारने की धमकी भी दी।”

डॉक्टर के दोस्त ने पैसे की व्यवस्था के बहाने उसे पुलिस तक पहुंचने में मदद की। हालांकि, जब पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची, तो अपहर्ता भाग गए थे और डॉक्टर को बचा लिया गया था। संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) नीलाब्जा चौधरी ने कहा कि फरार लोगों से प्रत्येक पर 15,000 रुपये का नकद इनाम घोषित किया गया है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper