30 नवंबर को लगेगा चंद्रग्रहण, अगर चाहते हैं मन पर न पड़े सीधा असर तो करें ये काम

डेस्क। अगले महीने 30 नवंबर को चंद्र ग्रहण लगेगा, जिसका सीधा असर आपके मन पर पड़ेगा। यह एक उपच्छाया चंद्रग्रहण होगा और वृषभ राशि और रोहिणी नक्षत्र में लगेगा। इस बार लगने वाले चंद्रग्रहण में सूतककाल मान्य नहीं होगा।

उल्लेखनीय है कि ज्योतिष शास्त्र में चंद्रमा को मन का कारक माना जाता है। सनातन परंपरा में चंद्र ग्रहण को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। जिन जातकों की कुंडली में चंद्रग्रहण दोष बन रहा है, उन जातकों पर चंद्र ग्रहण का असर अधिक पड़ेगा। चंद्र ग्रहण के समय चंद्रमा पानी को अपनी ओर आकर्षित करता है, इसलिए समुद्र में बड़ी -बड़ी लहरें उठने लगेंगी।

जानकारी के अनुसार चंद्र ग्रहण की उपच्छाया से पहला स्पर्श 30 नवंबर 2020 की दोपहर एक बजकर 04 मिनट पर होगा। परमग्रास चन्द्र ग्रहण 30 नवंबर 2020 की दोपहर 3 बजकर 13 मिनट परnर परमग्रास चन्द्र ग्रहण 30 नवंबर 2020 की दोपहर 3 बजकर 13 मिनट पर और उपच्छाया से अन्तिम स्पर्श 30 नवंबर 2020 की शाम 5 बजकर 22 मिनट पर होगा। इस बार चंद्रग्रहण में सूतककाल मान्य नहीं होगा।

चंद्र ग्रहण के दुष्प्रभाव से बचने के लिए ग्रहण के समय हवन, यज्ञ, और मंत्र जाप आदि किए जाएंगे। सनातनी पवित्र नदियों और सरोवरों में स्नान और दान आदि पुण्य कार्य करेंगे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper